शार्दुल-सुंदर ने तोड़ा कपिल देव और मनोज प्रभाकर का रिकॉर्ड

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रही मौजूदा बॉर्डर-गावस्कर टेस्ट सीरीज में कई रोमांचक पल आए हैं। आज ( रविवार) को भी ब्रिस्बेन के गाबा में खेले जा रहे मुकाबले में शार्दुल ठाकुर और वाशिंगटन सुंदर की बल्लेबाजी ने मैच को दिलचस्प मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया है। दरअसल गाबा में खेले जा रहे सीरीज के निर्णायक टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी 369 रन पर सिमट गई थी जिसके जवाब में भारत के 6 विकेट महज 186 रनों पर गिर गए थे। लग रहा था कि ऑस्ट्रेलिया पहली पारी के आधार पर बड़ी बढ़त लेकर भारत के लिए मुश्किलें खड़ी कर देगा लेकिन 6 विकेट गिरने के बाद जिस तरह से शार्दुल ठाकुर और वाशिंगटन सुंदर ने बल्लेबाजी की उसने सभी क्रिकेट प्रशंसकों का दिल जीत लिया।

नहीं हुआ साइना नेहवाल को कोरोना, रिपोर्ट आई नेगेटिव

दोनों ने ही बल्लेबाजी करते हुए मैदान के चारों ओर शॉट लगाए। वाशिंगटन सुंदर ने 62 जबकि शार्दुल ठाकुर ने 67 रनों की पारी खेली। दोनों खिलाड़ियों ने 7वें विकेट के लिए 123 रन जोड़कर भारत की इस टेस्ट मैच में वापसी करवा दी। इस साझेदारी के साथ दोनों ही खिलाड़ियों ने इतिहास भी रच दिया। दोनों ने कपिल देव और मनोज प्रभाकर का 30 साल पुराना रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है। बता दें कि इससे पहले ब्रिस्बेन के मैदान में सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड मनोज प्रभाकर और कपिल देव के नाम था। दोनों खिलाड़ियों ने सातवें विकेट के लिए 58 रन की साझेदारी की थी। जिसे अब इन दोनों खिलाड़ियों ने तोड़ दिया है।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं