मानसिक रूप से टॉर्चर किए जाने से परेशान थे मोहम्मद आमिर

क्रिकेट की दुनिया की चकाचौंध सभी को अपनी तरफ आकर्षित करती है लेकिन अंदर का हाल आम इंसान नहीं जानता है। पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। आमिर ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के खराब बर्ताव को अपनी रिटायरमेंट की वजह बताई है।

आमिर की गिनती पाकिस्तान की सबसे बेहतरीन स्विंग गेंदबाजों में की जाती थी और उन्होंने 2009 टी20 वर्ल्ड कप और 2017 में चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब जिताने में अहम भूमिका निभाई थी। भारत के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान आमिर के अचानक रिटायरमेंट से दुखी दिखाई दिए और उन्होंने ट्विटर पर उनके बारे में एक खास मैसेज लिखा। बता दें कि इरफान पठान लंका प्रीमियर लीग के पहले सीजन में इस साल खेलते दिखाई दिए थे और मोहम्मद आमिर भी इस टूर्नामेंट का हिस्सा रहे थे और उन्होंने काफी अच्छी गेंदबाजी का प्रदर्शन भी किया था।

मोहम्मद आमिर ने पाकिस्तान के लिए 36 टेस्ट, 61 वनडे और 50 टी20 मैच खेले और इस दौरान उन्होंने कुल मिलाकर 259 विकेट अपने नाम किए। अपनी स्विंग गेंदबाजी के आमिर काफी मशहूर रहे और बड़े से बड़े बल्लेबाजों को उन्होंने घुटने टेकने पर मजबूर किया। वनडे में 30 रन देकर 5 विकेट उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा, जबकि टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने 44 रन देकर एक पारी में 6 विकेट झटके। तीनों ही फॉर्मेट में उनका इकॉनमी काफी अच्छा रहा।

आमिर के संन्यास लेने के बाद पठान ने अपने ट्विटर पर लिखा, ‘इस इंसान का हाल में ही खत्म हुए लंका प्रीमियर लीग में सामना किया था, जरूर कहूंगा कि उनके अंदर काफी क्रिकेट बाकी है। सबसे बेहतरीन गेंदबाजी कर रहे थे। वह अपने भविष्य में अच्छा करें।’ मोहम्मद आमिर ने टेस्ट क्रिकेट से साल 2019 में ही संन्यास ले लिया था। आमिर ने पाकिस्तान के जर्नलिस्ट शोएब जट्ट से बातचीत के दौरान कहा, ‘मैं क्रिकेट से दूर नहीं जा रहा हूं। मुझे नहीं लगता है कि मैं इस मैनेजमेंट के अंडर क्रिकेट खेल पाऊंगा। मुझे लगता है कि फिलहाल क्रिकेट छोड़ देना चाहिए। मुझे मानसिक रूप से टॉर्चर किया जा रहा है।’

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है