प्लेयर्स की चोट बनी मुसीबत, सीरीज़ के निर्णायक टेस्ट में खेलना भी हो रहा मुश्किल

खेल के मैदान पर अगर अच्छे प्लेयर्स ही न दिखें तो खेल का मज़ा पहले ही खराब हो जाता है। ब्रिसबेन में होने वाले Fourth test match से पहले Indian team के लिए ऑस्ट्रेलिया से भी बड़ी चुनौती 11 खिलाड़ियों की टीम तैयार करना हो गयी है। जडेजा पहले ही चौथे टेस्ट से बाहर हो चुके है। अब विहारी के बाद बुमराह को भी चोट के चलते सीरीज़ के निर्णायक टेस्ट में खेलना मुश्किल लग रहा है।

सिड्नी में खेले गए 3 टेस्ट के दौरान बुमराह की पेट की मांसपेशियों में खिंचाव आ गया था। सूत्रों के अनुसार अगले दो दिन के अंदर उनकी चोट को लेकर स्थिति स्पष्ट हो पाएगी। अनुभवी गेंदबाज़ मोहम्मद शमी और उमेश यादव पहले ही चोट के चलते सीरीज़ से बाहर हो गए है। बता दें कि ब्रिसबेन टेस्ट के लिए भारत के पास चोटिल खिलाड़ियों को रिप्लेस करने के लिए बेहद सीमित विकल्प मौजूद है। यदि जसप्रीत बुमराह शुक्रवार से 8 जनवरी में शुरू हो रहे टेस्ट से बाहर होते है तो Team India के पास उनके विकल्प के तौर पर केवल शार्दुल ठाकुर और नटराजन मौजूद है। हालांकि प्रथम श्रेणी क्रिकेट में ठाकुर के अनुभव के चलते वो Team management की पहली पसंद हो सकते हैं।

Test Rankings: Virat Kohli की टेस्ट रैंकिंग गिरी, केन विलियम्सन की…

Former indian captain वेंगसरकर ने कहा है कि भारत को ब्रिसबेन टेस्ट में 5 गेंदबाज़ों के साथ उतरना चाहिए। उन्होंने कहा कि, “चौथे टेस्ट में चार गेंदबाज़ों के साथ उतरना जोखिम भरा हो सकता है। मैच के दौरान यदि किसी गेंदबाज़ को चोट लग जाती है तो आपके पास केवल 3 गेंदबाज़ों का ही विकल्प रह जाएगा।”

अंगूठे में चोट के चलते बाहर हुए जडेजा all-rounder के तौर पर Indian Team के सर्वश्रेष्ठ विकल्प थे। गेंदबाज़ी के साथ साथ वो अपनी बल्लेबाज़ी से भी कमाल कर रहे थे। अब अगर Team India ब्रिसबेन टेस्ट में पांच गेंदबाज़ों के साथ उतरती है तो उसके पास एकमात्र विकल्प वाशिंगटन सुंदर हैं जो कि एक Bowling all-rounder हैं।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं