BJP के वरिष्ठ नेता के तौर पर पहचाने जाने वाले और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री Kalyan Singh का कल रात करीब सवा 9 बजे लखनऊ में लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। वह 89 साल के थे। Kalyan Singh का अंतिम संस्कार 23 अगस्त को नरौरा में गंगा तट पर किया जाएगा।

CM योगी आदित्यनाथ ने Kalyan Singh के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए उत्तर प्रदेश में तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया है। उन्होंने प्रदेश में 23 अगस्त को एक दिन के सार्वजनिक अवकाश की भी घोषणा की है।

PM नरेंद्र मोदी ने Kalyan Singh के निधन पर शोक जताया और कहा कि भारत की सांस्कृतिक विरासत को समृद्ध करने में उन्होंने अहम भूमिका निभाई तथा आने वाली पीढ़ियां इसके लिए उनकी आभारी रहेंगी। उन्होंने कल्याण सिंह के पुत्र राजवीर सिंह से बात की और संवेदनाएं प्रकट कीं। PM Modi ने ट्वीट कर कहा, ‘‘दुख की इस घड़ी में मेरे पास शब्द नहीं हैं। Kalyan Singh जमीन से जुड़े बड़े राजनेता और कुशल प्रशासक होने के साथ-साथ एक महान व्यक्तित्व के स्वामी थे। उत्तर प्रदेश के विकास में उनका योगदान अमिट है। शोक की इस घड़ी में उनके परिजनों और समर्थकों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं।’’

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने Kalyan Singh के निधन पर शोक जताया और कहा कि उनका जनता के साथ अद्भुत जुड़ाव था। वहीं, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री Kalyan Singh के निधन पर शोक व्यक्त किया और उन्हें राष्ट्रवादी तथा बेमिसाल नेता बताया।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सिंह के निधन पर शोक जताया और कहा कि वह एक ऐसे ‘‘विराट वटवृक्ष’’ थे जिनकी छाया में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का संगठन पनपा और उसका विस्तार हुआ। शाह ने कहा कि Kalyan Singh के निधन से पार्टी में ऐसी रिक्तता आई है जिसे लंबे समय तक भर पाना संभव नहीं है।

यह भी पढ़ें: Yogi सरकार 39 जातियों को आरक्षण सूची में शामिल करने की कर रही तैयारी

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है