गंगा की गोद में विसर्जित हुईं पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की अस्थियाँ

हरिद्वार: देश के पूर्व राष्ट्रपति भारत रत्न दिवंगत प्रणब मुखर्जी की अस्थियां हरिद्वार पहुँची। हरिद्वार के हर की पौड़ी स्थित ब्रह्मकुंड पर पूरे विधि-विधान और वैदिक मंत्रोच्चार के साथ उनकी अस्थियों को गंगा में विसर्जित किया गया। आपको बतादें कि उनके पुत्र अभिजीत मुखर्जी और उनके दोस्त व परिजनों ने अस्थियां लेकर हरिद्वार पहुँच विसर्जन कर्म किया।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने 84 साल की उम्र में दुनिया को कहा अलविदा

इसी दौरान अभिजीत मुखर्जी ने बताया कि उनके दादाजी की इच्छा  के अनुसार पहले उनकी माता जी और अब पिताजी प्रणब मुखर्जी की अस्थियों को गंगा में विसर्जित किया गया है। उनके यहाँ अस्थियों को रखने की परंपरा नहीं है। इसलिए मुखाग्नि देने के तुरंत बाद ही अस्थियों को गंगा में विसर्जन कर दिया जाता है।

आपको बताते है प्रणब मुखर्जी की जिंदगी की कुछ अहम कहानियां…

इसके साथ ही उन्होंने प्रणब मुखर्जी की आत्मशांति की कामना की और ये भी बताया कि प्रणब मुखर्जी को गंगा से गहरा लगाव था। इसलिए उनकी अस्थियों को गंगा में विसर्जन करने के लिए ही वो दिल्ली से हरिद्वार पहुंचे हैं।  आपको बता दें कि इस दौरान उनके परिजन काफी भावुक दिखाई दे रहे थे। चूंकि प्रणब मुखर्जी कांग्रेस पार्टी के दिग्गज नेता भी रहे हैं इसलिए उनके अस्थि विसर्जन कार्यक्रम की ख़बर मिलते ही बड़ी संख्या में हरिद्वार के कांग्रेसी नेता भी मौजूद रहे।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है