CJI को लिखा गया पत्र करवाई की कि गई मांग

नई दिल्ली,

दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान लाल किले पर प्रदर्शकारियों द्वारा झंडा फहराने का मामला सुप्रीम कोर्ट पंहुचा। इसको लेकर एक कानून के छात्र ने भारत के मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखकर लाल किले पर किसी दूसरे समुदाय का झंडा फहराने वाले तत्वों के खिलाफ स्वतः संज्ञान लेने की मांग  है। यह एक बहुत बड़ी शर्मनाक घटना है। वहीं इस घटना से देश भी आहत है क्योंकि इस घटना की वजह से देश के संविधान के साथ राष्ट्रीय ध्वज का भी अपमान हुआ है। पुरे देश की भक्ति भावना को ठेस पहुंचाई गई है।  इस तरह की गतिविधि भारतीय लोगों की भावनाओं को नुकसान पहुंचाती है।बता दे कि कृषि कानूनों के विरोध पर नाम पर गणतंत्र दिवस के दिन दिल्ली में हुई किसानों की ट्रैक्टर परेड में शामिल उपद्रवी ने जमकर उपद्रव मचा दिया हैं और लाल किले पर धावा बोल दिया था । इतना ही नहीं उन्होंने वहां केसरिया झंडा लगा दिया। पुलिस के रोकने की कोशिश करने पर किसानो ने  पुलिसकर्मियों पर पथराव किया और तलवारों से हमला कर दिया । इसमें लगभग 83 पुलिसकर्मी घायल हो गए । 26 पुलिसकर्मियो की हालत गंभीर बताई जा रही है। इस मामले में 12 एफआइआर दर्ज की गई है। वहीं हालात को काबू में करने के लिए दिल्ली में अर्धसैनिक बलों को तैनातकर दिया गया है। साथ ही प्रभावित इलाकों में इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई हैं।

दिल्ली: ट्रैक्टर परेड के दौरान बवाल, कई मेट्रो स्टेशन बंद

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं