Home Defence हर इंसान को अब नहीं मिलेगा शस्त्र License, सिफारिश से भी नहीं...

हर इंसान को अब नहीं मिलेगा शस्त्र License, सिफारिश से भी नहीं बनेगी बात

0

शोहरतदार आदमी हो या पैसेवाला अपने पास शस्त्र रखना अपनी शान समझता है लेकिन अब हर किसी को शस्त्र License नहीं मिलेगा। शस्त्र License की चाह रहने वाले आवेदकों को अब बताना होगा कि उन्हें किससे खतरा है? उन्हें शस्त्र License की आवश्कता क्यों है? थाना पुलिस व एलआईयू आवेदक की फाइल पर इसकी रिपोर्ट लगाकर ही जिलाधिकारी को भेजेगी। बिना इस रिपोर्ट के पुलिस रिपोर्ट नकरात्मक मानी जाएगी।

गाजियाबाद जनपद में शस्त्र License केवल सुरक्षा के लिए नहीं बल्कि स्टेटस सिबंल भी बन गया है। ऐसे में बिना किसी जरूरत के भी लोग सिफारिश लगवाकर शस्त्र License प्राप्त करने की लाइन में है। अब ऐसा नहीं होगा। License उन्हें ही दिया जाएगा जिनके जीवन को किसी न किसी रूप में खतरा है।

गाजियाबाद जनपद में शस्त्र License केवल सुरक्षा के लिए नहीं बल्कि स्टेटस सिबंल भी बन गया है। ऐसे में बिना किसी जरूरत के भी लोग सिफारिश लगवाकर शस्त्र License प्राप्त करने की लाइन में है। अब ऐसा नहीं होगा। License उन्हें ही दिया जाएगा जिनके जीवन को किसी न किसी रूप में खतरा है।

ऐसे यह तय कर पाना मुश्किल है कि आखिर किसे शस्त्र License की अत्यंत आवश्यकता है। इसके लिए जिलाधिकारी ने नए आवेदकों की फाइल पर पुलिस व एलआईयू से आख्या मांगी है कि सभी आवेदकों की जांच करके उनकी सुरक्षा का आंकलन किया जाए। उसके बाद License देने या न देने की संस्तुति की जाए।

आवेदक की जांच केवल उसके वर्तमान पते तक ही सीमित नहीं है। जिलाधिकारी ने पुलिस प्रशासन को यह भी निर्देश दिए हैं कि आवेदक की जांच केवल उसके मूल पते से ही नहीं बल्कि आवेदक ने कहां-कहां निवास किया है, वहां से भी कराई जाए ताकि पता चल सके कि आवेदक के खिलाफ किसी अन्य स्थान पर कोई आपराधिक रिकॉर्ड तो नहीं है।

पासपोर्ट के लिए आवेदन करने के बाद उसे जारी करने के लिए पुलिस आवेदक की जांच करके रिपोर्ट भेजती है। उसी रिपोर्ट के आधार पर पासपोर्ट जारी होता है। यदि पुलिस रिपोर्ट सही नहीं है तो पासपोर्ट जारी नहीं होता। इसी तरह की शर्त शस्त्र License में भी लगा दी गई है। पुलिस जिस आवेदक की रिपोर्ट में License जारी करने के संस्तुति करेगी जिलाधिकारी के समक्ष उन्हीं फाइलों को रखा जाएगा। पुलिस रिपोर्ट के बाद भी जरूरी नहीं है कि जिलाधिकारी License जारी करें। यह विवेकाधिकार जिलाधिकारी के पास ही रहेगा।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है 

Exit mobile version