‘द जोया फैक्टर’ अनुजा चौहान की किताब पर आधारित है।’द जोया फैक्टर’ की कहानी ये है कि सोलंकी यानी सोनम कपूर जिस दिन जोया का जन्म होता है।

‘द जोया फैक्टर’ फिल्म पूरी तरह से एंटरटेनिंग फिल्म है। ‘द जोया फैक्टर’ अनुजा चौहान की किताब पर आधारित है।’द जोया फैक्टर’ की कहानी ये है कि सोलंकी यानी सोनम कपूर जिस दिन जोया का जन्म होता है, उसी दिन भारत 1983 क्रिकेट वर्ल्ड कप जीत जाता है। बस उस दिन से जोया अपने पापा संजय कपूर के लिए लकी हो जाती है। तब से जोया पापा-भाई के मैचों में उनका लक बन जाती है और थोड़े समय बाद जोया सबके लिए लकी हो जाती है, लेकिन खुद के लिए उसका लक काम नहीं करता है। जिससे उसका बॉयफ्रेंड भी ब्रेकअप कर लेता है।
Image result for zoya factor

फिर इंडियन क्रिकेट टीम के साथ एक एड फिल्म की शूटिंग के लिए श्रीलंका भेजा जाता है। यहां उसकी मुलाकात टीम इंडिया के कप्तान विक्रम खोड़ा (दुलकर सलमान) से होती है। जोया टीम इंडिया के साथ नाश्ता करती है और टीम जीतना शुरू कर देती है। इसके बाद से ही टीम इंडिया की लकी चार्म बन जाती हैं। जोया का लकी चार्म धीरे-धीरे अंधविश्वास में बदल जाता है। वहीं, दूसरी तरफ विक्रम और जोया की लव स्टोरी भी शुरू हो जाती है। हालांकि, विक्रम जोया के लकी चार्म को नहीं मानता है, और टीम के अंदर फूट पड़ जाती है। इसका फायदा उठाकर टीम का एक्स कप्तान रोबिन विक्रम से कप्तानी छीनना चाहता है।

पल पल दिल के पास, फिल्म आज सिनेमाघरों में हुई रिलीज, देखे रिव्यू और रेटिंग

Image result for zoya factor

इस पूरी फिल्म में क्रिकेट, एस्ट्रोलॉजी, लव और कॉमेडी, है। इस फिल्म के बाद उनकी फैन फॉलोइंग में जबरदस्त इजाफा भी होने वाला है। इसके साथ ही सोनम कपूर ने अपने किरदार को अच्छे से निभाया है। सोनम कपूर के मोनोलॉग काफी मजेदार हैं, जो खूब गुदगुदाते भी हैं। फिल्म में किरदारों के डायलॉग्स जहां निराश करते हैं, लेकिन क्रिकेट मैच के दौरान कमेंट्री सबसे ज्यादा हंसाएगी। सबसे कमजोर कड़ी है फिल्म की स्क्रिप्ट है। एक वक्त के बाद आप फिल्म में आगे क्या होगा इसका भी अंदाजा लगा सकेंगे। फिल्म का पहला हाफ काफी उबाऊ है। फिल्म दूसरे हाफ में गति पकड़ती है लेकिन, अजीब ट्विस्ट और टर्न के कारण दूसरा हाफ भी ज्यादा लंबा हो जाता है।

एक और लीक से हटकर फिल्म के साथ तैयार आयुष्मान खुराना