फिल्म Sherni में कुछ भी ऐसा नया देखने को नहीं मिलता है, जिसको देखकर बतौर दर्शक आप खुश हो जाएं। वन विभाग कैसे काम करता है, अगर आप ये देखने के लिए फिल्म देख रहे हैं तो फिर कई और डॉक्यूमेंट्रीज या शोज आप देख सकते हैं। फिल्म देखें या नहीं नहीं देखें के सवाल पर सिर्फ इतना ही कहा जा सकता है कि करीब 2 घंटे 10 मिनट की इस फिल्म को आप तब ही देखें जब आप ये तय कर लें कि मसाला फिल्म नहीं है।

फिल्म Sherni की कहानी मुख्य रूप से जंगल, एक Sherni और वन विभाग की कार्य प्रणाली के आस- पास घूमती है। फिल्म में Vidya Balan, वन विभाग की एक अधिकारी के रूप में नजर आ रही हैं और उनके किरदार का नाम विद्या विंसेंट है। Vidya एक ऐसे क्षेत्र में है, जहां ज्यादातर मर्द काम करते हैं और उनकी सोच बहुत शैविनिस्टिक है, जो मानते हैं कि मर्द ही सब कुछ हैं। पूरी कहानी एक Sherni के इर्द गिर्द घूमती है, जिसे Vidya सुरक्षित रखना चाहती है, जबकि वन विभाग व कुछ अन्य लोग उसका शिकार करना चाहते हैं। वहीं इन सब के बीच में राजनीति कैसे कामों पर असर डालती है, ये भी फिल्म में दिखाया गया है। Vidya Balan, Sherni को बचा पाती है या नहीं, ये जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी।

फिल्म Sherni के सभी कलाकारों का चयन काफी सटीकता के साथ किया गया है और उसका ही नतीजा है कि सभी कलाकारों ने उम्दा प्रदर्शन किया है। एक ही फिल्म में कई बेहतरीन कलाकार होने पर फिल्म में आपको एक बात खटकती कि कलाकारों की स्क्रीन टाइम कम रहा है। Vidya Balan के साथ ही विजय राज, बृजेन्द्र काला, शरत सक्सेना, नीरज काबी और मुकुल चड्ढा सहित सभी अभिनेताओं ने अपने किरदारों के साथ इंसाफ किया है।

यह भी पढ़ें: देश में Covid-19 की रफ्तार हुई धीमी, बीते 24 घंटे में मिले 62,480 केस और 1,587 की मौत

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है