Shashikala ने उतार-चढ़ाव भरी ज़िन्दगी गुज़ार कर दुनिया को कहा अलविदा

अभिनेत्री Shashikala का रविवार की दोपहर मुंबई में निधन हो गया।  वो  एक भारतीय फिल्म और टेलीविजन अभिनेत्री थीं, जिन्होंने 1940 और 2000 के दशक में बॉलीवुड की सैकड़ों फिल्मों में सहायक भूमिकाएँ निभाई थीं।  वह 88 साल की थीं। Shashikala ने अपने करियर में 100 से ज्यादा फिल्मों में काम किया। उन्होंने ज्यादातर सहायक अभिनेत्री और खलनायिका के किरदार निभाए।

आलीशान गुजरा बचपन

Shashikala का पूरा नाम Shashikala जावलकर था। फिल्म जगत में उन्हें उनके पहले नाम से जाना गया। Shashikala का बचपन बेहद आलीशान बीता था। उनके पिता बहुत बड़े बिजनेसमैन थे। हालांकि यह समय ज्यादा दिनों तक रह नहीं पाया और उनके परिवार को आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ा। जिसके बाद वो मुंबई आ गये थे।

Shashikala के जीवन की शुरुवात

Shashikala जावलकर महाराष्ट्र के सोलापुर में पैदा हुई थीं वो छह बहन भाई थे,उनका परिवार एक हिंदू भावसार शिम्पी जाति का मराठी भाषी परिवार था। 5 साल की उम्र से ही वो सोलापुर जिले के कई शहरों में मंच पर नृत्य, गायन और अभिनय करती थी। जब Shashikala अपने पूर्व-किशोरावस्था में थीं, तो दुर्भाग्य से, उनके पिता का दिवालिया हो गया था, तब वो अपने परिवार को बॉम्बे ले आए अब बॉम्बे को मुंबई कहा जाता है, Shashikala के पिता इस उम्मीद में मुंबई पहुंचे कि शायद उनकी बेटी को फिल्मों में काम मिल जाए लेकिन यह रास्ता इतना भी आसान नहीं था।एक इंटरव्यू में Shashikala ने बताया कि उस वक्त वह बस यही सोचती थीं कि वह किसी भी तरह काम करके अपने परिवार की मदद कर सकें। उन्होंने मुंबई में लोगों के घरों में काम भी किए। वह दूसरों के घरों में बर्तन धोने से लेकर झाड़ू-पोछा लगाने तक का काम करती थीं। फिर Shashikala एक स्टूडियो से दूसरे स्टूडियो तक काम की तलाश में भटकती रही।

किसान आंदोलन:  कल FCI कार्यालयों के सामने विरोध प्रदर्शन करेंगे किसान

नूरजहां से हुई मुलाकात

एक दिन Shashikala की मुलाकात गायिका और अभिनेत्री नूरजहां से हुई। नूरजहां के पति शौकत हुसैन रिजवी के जरिए Shashikala को फिल्म ‘जीनत’ में काम करने का मौका मिला । और उनकी उस फिल्म में एक कव्वाली के दृश्य में Shashikala भी शामिल थी। इसके बाद वह कई फिल्मों में छोटे छोटे रोल में नजर आईं। 1962 में रिलीज हुई फिल्म ‘आरती’ से उन्हें प्रसिद्धि मिली।

पति के साथ होने लगी थी अनबन  

अपने शुरुआती बीसवें दशक में, Shashikala ने ओम प्रकाश सहगल से शादी की, जो कुंदन लाल सहगल परिवार से थे, और उनकी दो बेटियाँ हैं। हालांकि यह शादी ज्यादा दिनों तक चल नहीं पाई। Shashikala अपने पति और दोनों बेटियों को छोड़कर किसी और के साथ विदेश चली गईं।

मदर टेरेसा के साथ भी किया काम

जिस शख्स के साथ Shashikala विदेश गई थीं वह उन्हें मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित करने लगा। किसी तरह Shashikala वापस भारत पहुंचीं। Shashikala लोगों की मदद करना चाहती थीं। ऐसे में वह कोलकाता गईं और मदर टेरेसा के साथ मिलकर काम करने लगीं। उन्हें लोगों की मदद करना बहुत अच्छा लगता था।

फिल्म इंडस्ट्री छोड़ी बाद में फिर की वापसी

कुछ समय बाद Shashikala वापस मुंबई लौटीं और फिर से फिल्मों में काम करने लगीं। उन्होंने ‘परदेसी बाबू’, ‘बादशाह’, ‘कभी खुशी कभी गम’, ‘मुझसे शादी करोगी’ और ‘चोरी चोरी’ में काम किया।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है