साल 1974 में लंदन के सुप्रसिद्ध रॉयल अल्बर्ट हॉल में उन्हें पहली भारतीय गायिका के रूप में गाने का अवसर प्राप्त है।

स्वर कोकिला के नाम से प्रसिद्ध यानि कि लता मंगेशकर का आज 91वां जन्मदिन है। वैसे तो हर साल ये दिन खास होता हैं पर इस साल इस दिन को और खुशी ज्यादा खुशी से मनाने का मौका है। जी हां हम ऐसा इसलिए बोल रहे हैं क्योकि इसी साल स्वर कोकिला लता मंगेशकर को को डॉटर ऑफ द नेशन के सम्मान से नवाजा जा रहा है।

तो चलिए उनके जन्मदिन के मौके पर हम आपको लता मंगेशकर से जुड़ी बातें बताते है। उनके शुरुवाती करियार से लेकर उनके अबतक के करियर से जुड़े कुछ अनकही अनसुनी बातें।

सलमान खान के EX बॉडीगार्ड को रस्सी से बांधकर थाने ले जाया गया…

Related image

लता मंगेशकर का जन्म इंदौर के मराठी परिवार में पंडित दीनदयाल मंगेशकर के घर हुआ। इनके पिता रंगमंच के कलाकार और गायक थे। इसलिए संगीत इन्हें विरासत में मिला। लता मंगेशकर का पहला नाम ‘हेमा’ था, मगर जन्म के 5 साल बाद माता-पिता ने इनका नाम ‘लता’ रख दिया था।

साल 1974 में लंदन के सुप्रसिद्ध रॉयल अल्बर्ट हॉल में उन्हें पहली भारतीय गायिका के रूप में गाने का अवसर प्राप्त है। जिसके बाद 1974 में दुनिया में सबसे अधिक गीत गाने का ‘गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड’ उनके नाम पर दर्ज है। भारत की ‘स्वर कोकिला’ लता मंगेशकर ने 20 भाषाओं में 30,000 गाने गाये हैं। इनकी आवाज ने छह दशकों से भी ज्यादा संगीत की दुनिया को सुरों से नवाजा है।

Image result for lata mangeshkar hd

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि जिस लता की आवाज़ अब रेडियो पर सारे दिन गूंजती रहती है, बचपन में उसकी सबसे बड़ी ख्वाहिश यह थी कि उसे रेडियो पर एक बार अपना नाम सुनने को मिल जाए। और नाम गायिका के तौर पर नहीं, फ़रमाइशी के तौर पर। अपनी इस इच्छा को पूरा करने के लिए उन्होंने एक दिन रेडियो के एक फ़रमाइशी प्रोग्राम में पत्र लिख कर उस समय की मशहूर ग़ज़ल गायिका बेग़म अख़्तर की एक ग़ज़ल सुनवाने का आग्रह किया। ग़ज़ल थी ‘दीवाना बनाना है तो दीवाना बना दे’। पत्र लिखने के बाद वह रोज़ रेडियो पर बड़ी उत्सुकता से वह कार्यक्रम सुनने लगीं। इस उम्मीद में कि शायद किसी दिन उनका नाम भी पढ़ा जाए।

जॉन अब्राहम ने बताया केरल में क्यों नहीं बनी कभी बीजेपी सरकार…

तो लता मंगेशकर के करियार की कुछ ऐसी शुरुवात रही  जिसके बाद इस संघर्ष भारे जीवन के बाद इस मुकाम तक पहुंची। आज अपना 91वां जन्मदिन मना रहीं लता अब भी बच्चों की तरह जोक्स सुनना और सुनाना पसंद करती हैं। आमतौर पर सफेद साड़ी में दिखाई देने वाली लता अच्छी साड़ियों के साथ-साथ सुन्दर गहनों की भी शौकीन हैं।