Bollywood की फेमस एक्ट्रेस Juhi Chawla की ओर से Delhi High Court में मोबाइल फोन की 5G तकनीक को लेकर दायर की गई याचिका खारिज हो गई है, इतना ही नहीं इसके साथ ही कोर्ट ने उन पर 20 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है।
जस्टिस जेआर मिधा की पीठ ने इस मामले में शुक्रवार को अपना फैसला सुनाया। इससे पहले इस मामले में बुधवार को सुनवाई हो चुकी है। Court ने कहा कि याचिकाकर्ता ने कानूनी प्रक्रिया का गलत इस्तेमाल किया है और इस वजह से उनपर 20 लाख रुपये का जुर्माना लगाया जाता है। कोर्ट ने कहा कि Juhi Chawla ने इस मुकदमे को सिर्फ पब्लिसिटी के लिए दायर किया गया था और इसी वजह से उन्होंने सुनवाई का लिंक भी सोशल मीडिया पर शेयर किया।
Juhi Chawla ने कहा कि यह एक सामान्य गलत धारणा है कि उनका मुकदमा तकनीक के खिलाफ है। उन्होंने कहा कि संबंधित अधिकारियों को प्रौद्योगिकी से जुड़े सभी डेटा को सार्वजनिक करना चाहिए। यह एक गलत धारणा प्रतीत हो रही है कि Delhi High Court में दाखिल हमारा मुकदमा 5G तकनीक के खिलाफ है। हम यहां साफ करना चाहते हैं कि, हम 5G तकनीक के खिलाफ नहीं हैं। हालांकि, हम सरकार और अधिकारियों से चाहते हैं कि वह हमें प्रमाणित करें कि बड़े पैमाने पर जनता के लिए 5G तकनीक मानव जाति, पुरुष, महिला, वयस्क, बच्चे, शिशु, जानवरों और हर प्रकार के जीव, वनस्पतियों और जीवों के लिए सुरक्षित है।
Radio Frequency Radiation पर स्टडी की कमी के बारे में उन्होंने आगे कहा मैंने 2010 से कई संबंधित सरकारी अधिकारियों को लिखा है कि मैं 53 वीं संसदीय स्थायी समिति 2013 से 2014 में एक प्रजेंटेशन देकर, मुंबई हाई कोर्ट में एक जनहित याचिका (पीआईएल) दायर कर रही हूं। 2019 में दूरसंचार मंत्रालय से पूछताछ करने पर मुझे आरटीआई अधिनियम के तहत लिखित जवाब दिया गया कि रेडियो फ्रिक्वेंसी विकिरण के बारे में आज तक कोई स्टडी नहीं की गई है।

यह भी पढ़ें:World Environment Day 2021: Corona से ज़्यादा ख़तरनाक होगी पानी की क़िल्लत

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है