80 वर्ष की उम्र में भजन सम्राट Narendra Chanchal ने अपोलो अस्पताल में ली अंतिम सांस

लोगों को माता की भक्ति में डूबा देने वाले भजन सम्राट नरेंद्र चंचल ने आज दुनिया को अलविदा कह दिया है। Narendra Chanchal 80 साल के थे। उन्होंने दिल्ली के Apollo Hospital में दोपहर करीब 12।30 पर अंतिम सांस ली। Narendra Chanchal ने कई प्रसिद्ध भजनों के साथ Hindi Films में भी गाने गाए हैं। उन्होंने न सिर्फ Classical Music में अपना नाम कमाया बल्कि Folk music में भी लोगों की दिल जीता। बता दें कि उनके ब्रेन में क्लोटिंग थी। अपने पीछे वो 2 बेटे और एक बेटी छोड़ गए हैं।

लालू को सांस लेने में दिक्कत

Social Media पर उनके फैंस उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं। उनके निधन पर पंजाबी दलेर मेहंदी के साथ-साथ Mumbai Film Industry से जुड़े कलाकारों ने भी उनके निधन पर शोक जताया है। उन्होंने Raj Kapoor की Film Bobby में ‘बेशक मंदिर मस्जिद तोड़ो’ गाना गाया। ये गाना आज भी लोगों की जुबान पर रहता है। Narendra को पहचान मिली फिल्म ‘आशा’, में गाए माता के भजन ‘चलो बुलावा आया है’ से जिसने रातों रात उन्हें मशहूर बना दिया।Delhi- NCR समेत पूरे North India में उनका बड़ा नाम था।

बचपन से ही Narendra Chanchal ने अपनी मां कैलाशवती को मातारानी के भजन गाते हुए सुना। इसी वजह से उनकी रुचि भी गायकी में बढ़ी। उनके शरारती स्वभाव और चंचलता की वजह से उनके शिक्षक उन्हें ‘चंचल’ कहकर बुलाते थे। बाद में Narendra ने अपने नाम के साथ हमेशा के लिए Chanchal जोड़ लिया।

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं