अमिताभ बच्चन ने किया है उन्होंने बातचीत के दौरान बताया कि उनका 75% लीवर पूरी तरह से खराब हो चुका है और वह बचे हुए 25% लीवर के सहारे जिंदा है।

अमिताभ बच्चन सदी का महानायक, जिसकी फ़ैन फॉलोइंग केवल हिंदुस्तान तक ही नहीं सीमित है बल्कि विदेशों में भी उनके प्रशंसकों की भारी संख्या मौजूद है। पिछले 5 दशकों से अभिनय की दुनियाँ में उनका सिक्का बुलंद है। बढ़ती उम्र भी उनके इस जादू को काम करने में नाकाम साबित हो गयी है या यूं कहें जैसे-जैसे बिग बी की उम्र बढ़ती जा रही है वैसे-वैसे वो और ज्यादा दर्शकों के दिलों मे घर करते जा रहे हैं।

अमिताभ ने खोला ‘सूर्यवंशम’ को टेलिविज़न पर सबसे ज्यादा देखे जाने का राज

अमिताभ बच्चन का 75% लिवर हो चुका है खराब, साथ ही ये खतरनाक बीमारी..

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन कौन बनेगा करोड़पति की वजह से इन दिनों सुर्खियों में है। उनके बोलने की स्टाइल और उनकी शो में एंट्री की काफी चर्चा हो रही है और लोग 76 साल के बिग बी की पर्सनेलिटी की काफी तारीफ कर रहे हैं। अमिताभ बच्चन जिस तरह से अपने आप को कैरी करते हैं, उसकी हर कोई तारीफ कर रहा है, लेकिन क्या आप जानते हैं इतने स्टाइलिश और फिट दिखने वाले अमिताभ बच्चन का 75 फीसदी लीवर खराब हो चुका है और वो एक खतरनाक बीमारी से लड़ रहे हैं।

इस बात का खुलासा खुद अमिताभ बच्चन ने किया है। उन्होंने बातचीत के दौरान बताया कि उनका 75% लीवर पूरी तरह से खराब हो चुका है और वह बचे हुए 25% लीवर के सहारे जिंदा है। एक चैनल को दिए इंटरव्यू उन्होंने कहा कि मुझे यह कहते हुए बुरा नहीं लगता कि मैं  ट्यूबरक्लोसिस और हेपेटाइटिस बी से पीड़ित हूं। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि मेरे लीवर का 75% भाग पूरी तरह से खराब हो चुका है और मैं 25% लीवर के सहारे जिंदा हूँ।

लखनऊ की सड़कों पर फटे कुर्ते में घूमता दिखा यह सुपरस्टार, हाल देख लोग हुए हैरान

अमिताभ बच्चन का 75% लिवर हो चुका है खराब, साथ ही ये खतरनाक बीमारी..

पोलियो, हेपेटाइटिस बी, टीबी, डायबटीज़ जैसी बीमारियों के अभियान से जुड़े अमिताभ बच्चन ने लोगों से टेस्ट करवाने और इसका इलाज करवाने को कहा है। अमिताभ ने बताया कि टीबी जैसी बीमारियों का भी इलाज होता है! मुझे करीब 8 सालों तक नहीं पता था कि मुझे टीबी है। मैं कह रहा हूं कि जो मेरे साथ हुआ है वो किसी के साथ भी हो सकता है। अगर आप जांच करवाने के लिए ही तैयार नहीं है तो आपको कुछ पता नहीं चलेगा और फिर उसका इलाज भी नहीं हो पाएगा।