हरियाणा और महाराष्ट्र के चुनाव में कांग्रेस ने बीजेपी को कड़ी टक्कर दी है।

विधानसभा चुनावों में कांग्रेस भारतीय जनता पार्टी को टक्कर तो जरूर दे रही है लेकिन अपनी सरकार बनाने में नाकाम साबित हो रही है। राजस्थान और उत्तराखंड के विधानसभा चुनावों में भी कांग्रेस पार्टी ने भारतीय जनता पार्टी को कड़ी टक्कर दी थी और अब हरियाणा और महाराष्ट्र के चुनाव में कांग्रेस ने भी बीजेपी को कड़ी टक्कर दी है।

congress party महाराष्ट्र में तो बीजेपी बहुमत में बहुत आगे हैं लेकिन हरियाणा में कांग्रेस पार्टी वह सत्ता के बहुत करीब थी। लेकिन अब समीकरण बदल गए हैं।

हरियाणा के चुनावों में आए नतीजों को लेकर कांग्रेस खुशी मना रही थी।

जहां कांग्रेस हरियाणा के चुनावों में आए नतीजों को लेकर कांग्रेस खुशी मना रही थी यह खुशी उसके गम में बदल गई है। हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी को 90 में से 40 सीटें मिली और कांग्रेस को 31 सीटों से संतोष करना पड़ा। कांग्रेस को हरियाणा में अपनी सरकार बनने की पूरी उम्मीद हो गई थी लेकिन आखरी मौके पर भारतीय जनता पार्टी ने सही गेम खेला और निर्दलीय विधायकों को अपने पाले में ले लिया। दुष्यंत चौटाला ने भी कांग्रेस की जगह बीजेपी को समर्थन दे दिया।

Image result for दुष्यंत चौटाला से कि बीजेपी

दुष्यंत चौटाला समझौता फाइनल करने के लिए दिल्ली पहुंचे थे यहां पर उनकी मुलाकात गृहमंत्री अमित शाह से हुई जिसके बाद उन्होंने भारतीय जनता पार्टी को समर्थन दे दिया। एक पत्रकार ने दुष्यंत चौटाला से पूछा कि उन्होंने कांग्रेस की जगह बीजेपी को क्यों चुना तो उन्होंने बड़ा ही शानदार जवाब दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्थाई सरकार देने के लिए यह करना जरूरी था इसलिए वह बीजेपी के साथ है। बता दें कि दुष्यंत चौटाला को उपमुख्यमंत्री बनाया जाएगा।