हरियाणा सत्ता में बदलाव चाहती है और यह जेजेपी लेकर जरूर आएगी।  Image result for दुष्यंत चौटाला से पूछा कि बीजेपी या कांग्रेस में किसका साथ दें

भारतीय जनता पार्टी इस समय देश की सबसे बड़ी पार्टी है। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी ने काफी उड़ान भरी है। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व से पहले भारतीय जनता पार्टी कांग्रेस के बाद दूसरी सबसे बड़ी पार्टी तो हुआ करती थी लेकिन वह इतनी बड़ी पार्टी नहीं मानी जाती थी लेकिन नरेंद्र मोदी की कमान संभालते ही भारतीय जनता पार्टी ने इतिहास रचते हुए 2014 में पूर्ण बहुमत से केंद्र में सरकार बनाई। उसके बाद लगातार दूसरी बार कांग्रेस को बुरी तरह हराते हुए 2019 लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत हासिल की।

कांग्रेस पिछड़ी जरूर थी लेकिन इतनी भी पीछे नहीं रही क्योंकि उसने कई राज्यों में भारतीय जनता पार्टी को छोड़कर अपनी सरकार बनाई। हाल ही में महाराष्ट्र और हरियाणा के चुनाव संपन्न हुए और कल उनके नतीजे भी आए। महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी और शिवसेना के गठबंधन ने बढ़ा तहसील की लेकिन हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी वैसा करिश्मा नहीं कर पाई जैसा उसको उम्मीदें थी। भारतीय जनता पार्टी ने हरियाणा में 90 में से 40 सीटों पर ही बढत बना पाई जबकि कांग्रेस ने 30 सीटें झटक ली।

दुष्यंत चौटाला से पूछा कि बीजेपी या कांग्रेस में किसका साथ दें

हरियाणा में सरकार बनाना या ना बनाना दुष्यंत चौटाला की पार्टी के हाथ में है। दुष्यंत चौटाला से पूछा गया कि वह हरियाणा में कांग्रेस या बीजेपी में से किसका साथ देंगे तो उन्होंने बड़ी चतुराई से जवाब दिया। उन्होंने अपने बयान में कहा कि अभी कुछ भी बोलना बहुत जल्दबाजी होगी। उन्होंने अपने बयान में आगे कहा कि हरियाणा सत्ता में बदलाव चाहती है और यह जेजेपी लेकर जरूर आएगी।