‘Giloy’ पीने से लिवर हो रहा है खराब, आप भी सोच समझकर करें इस्तेमाल

0
429

Corona virus के ख़तरे के बीच आपने सभी को ये कहते ज़रूर सुना होगा कि इस वायरस को मात देनी है तो इम्यूनिटी बढ़ाए। इस वक़्त लगभग सभी लोग अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए कई तरह से प्रयास कर रहे हैं। लोग अपनी लाइफस्टाइल से लेकर अपनी डाइट तक में बदलाव कर रहे हैं। इम्यूनिटी को मजबूत बनाने के लिए एक तरफ जहां हेल्दी फूड्स जैसे कि साबुत अनाज और फ्रूट्स खाने की सलाह दी जारी है वहीं कई लोग स्ट्रॉन्ग इम्यूनिटी के लिए काढ़े का सहारा ले रहे हैं। तुलसी, अदरक, आंवला से लेकर हल्दी और Giloy तक सभी देसी नुस्खे जो कभी-कभार इस्तेमाल किए जाते थे, अब महामारी में हर किसी की दिनचर्या बन गए हैं।

हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक देसी नुस्खों का सेवन कम मात्रा में करना चाहिए ताकि इसके साइड इफेक्ट्स से बचा जा सके। एक खबर के अनुसार अब एक नई स्टडी से ये बात साफ हो चुकी है कि क्यों हर्बल शंखनाद का सेवन कम मात्रा में किया जाना जरूरी है। जर्नल ऑफ क्लिनिकल एंड एक्सपेरिमेंटल हेपेटोलॉजी में पब्लिश एक रिसर्च से पता चला है कि Corona virus के दौरान Giloy के जूस के अत्यधिक सेवन से कई लोगों के लिवर में समस्या आई है।

रिसर्च में ये स्पष्ट हो चुका है कि Covid-19 के दौरान हर्बल इम्यून बूस्टर के सेवन से लोगों के Liver Damage हुए हैं। मुंबई में डॉक्टरों की एक टीम ने सितंबर 2020 से दिसंबर 2020 के बीच Giloy के काढ़े से होने वाले लिवर डैमेज के करीब 6 मामले नोटिस किए थे। इन मरीजों में जॉन्डिस (पीलिया) और सुस्ती-थकान जैसे लक्षण देखने को मिले थे। ये लोग डॉक्टर के पास शारीरिक शिकायत लेकर पहुंचे थे। जांच के बाद पता चला कि इन सभी लोगों ने टिनोस्पोरा कोर्डिफोलिया यानी Giloy का अत्यधिक मात्रा में सेवन किया था। वहीं Indian National Association for the Study of Liver में प्रकाशित एक अध्ययन में इस बात का दावा किया गया है कि Giloy के सेवन से लिवर को नुकसान पहुंच सकता है।

यह भी पढ़ें – नहीं पसंद है ‘Jamun’ तो बच्चों को पिलाएं इसका शरबत

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है