मदारी’ और ‘दृश्यम’ जैसी फिल्मों से लोगों को लुभा कर हमेशा के लिए खामोश हो गए निशिकांत कामत

कोरोना काल कहिए या मृत्यु काल एक ही बात है। न जानें कितने ही सितारे और उनको तराशने वाले इस दुनिया को अलविदा कह गए। मदारी और दृश्यम जैसी फिल्मों का निर्देशन करने वाले निर्देशक निशिकांत कामत का भी सोमवार(17 अगस्त) को निधन हो गया। वे 50 साल के थे और पिछले कुछ समय से अस्वस्थ चल रहे थे। उनके निधन की पुष्टि एक्टर अजय देवगन ने की।

अभिनेत्री जिया खान की मां ने किया खुलासा

50 साल के निशिकांत कामत लीवर सिरोसिस नामक बीमारी से पीड़ित थे। इसी के चलते उन्हें 31 जुलाई को हैदराबाद के गचीबोवली स्थित एआईजी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। उन्होंने पीलिया और पेट दर्द की शिकायत की थी। जांच के बाद उनमें क्रॉनिक लिवर डिजीज और कुछ और इंफेक्शन्स के बारे में पता चला था। 13 अगस्त को अस्पताल की ओर से जारी आधिकारिक स्टेटमेंट में उन्हें खतरे से बाहर बताया गया था। हालांकि, वे उस वक्त भी ICU में ही डॉक्टर्स की निगरानी में थे। सोमवार को आधिकारिक बयान जारी कर अस्पताल ने उनके निधन की खबर दी।

मनोरंजन जगत से जुड़े लोगों के लिए भी लगातार एक के बाद एक बुरी खबरें आ रही हैं। हाल ही में दिग्गज शायर राहत इंदौरी का निधन हो गया था। मशहूर क्लासिकल सिंगर पंडित जसराज भी नहीं रहे।

सुशांत की मौत आत्महत्या या हत्या…सस्पेंस बरकरार…

कामत 2005 में मराठी फिल्म ‘डोंबिवली फास्ट’ से निर्देशन में डेब्यू किया था। यह फिल्म उस साल की सबसे बड़ी हिट मराठी फिल्मों में से एक थी। इस फिल्म को बेस्ट फीचर फिल्म मराठी का नेशनल अवॉर्ड भी मिला था। बता दें कि बॉलीवुड में कामत को सबसे ज्यादा शोहरत साल 2015 में आई अजय देवगन, तबू और श्रेया सरन स्टारर फिल्म ‘दृश्यम’ ने दिलाई। बेहतरीन निर्देशक होने के साथ ही वे शानदार अभिनेता भी हैं और उन्होंने कई फिल्मों में एक्टिंग में भी हाथ आज़माए हैं।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है