जानें, युवा चेहरों को ही इंडस्ट्री में जगह देने का चलन के पीछे का सच

‘इंडस्ट्री पुरुष प्रधान है’, ‘इंडस्ट्री में पुरुषों का दबदबा’ इस बयान के पीछे कितनी हक़ीक़त है ये सभी जानते हैं लेकिन कोई सच बताने को तैयार नहीं होता है। अभिनेत्री दीया मिर्जा ने फिल्मों में अधेड़ उम्र के हीरो के साथ टीनएजर अभिनेत्रियों के रोमांस को लेकर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि अधेड़ उम्रे के अभिनेताओं के साथ टीनएजर ऐक्ट्रेसेज का फिल्मों रोमांस देखना उन्हें अजीब लगता है।

दीया मिर्जा ने कहा कि इंडस्ट्री युवा चेहरों को पसंद करती है और नीना गुप्ता जैसी ऐक्ट्रेस इसमें अपवाद की तरह हैं। एक इंटरव्यू में दीया मिर्जा ने कहा कि यह बेहद अजीब लगता है कि अधेड़ उम्र के ऐक्टर टीनएजर ऐक्ट्रेस के साथ रोमांस करें। उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इंडस्ट्री में पुरुषों का दबदबा है।

दीया मिर्जा ने कहा, ‘दुर्भाग्यपूर्ण तथ्य यह है कि कहानियां ही इस तरह से नहीं लिखी जातीं, जिनमें अधिक उम्र के महिला कैरेक्टर्स को शामिल किया जा सके, जितनी की मेल ऐक्टर्स के लिए लिखी जाती हैं। इससे भी दुर्भाग्यपूर्ण तब होता है, जब अधेड़ उम्र के अभिनेता युवा का रोल प्ले करें। ब्यूटी का आइडिया हमेशा से युवा होने के साथ जुड़ा रहा है। शायद इसीलिए हमेशा युवा चेहरों को ही इंडस्ट्री में जगह देने का चलन रहा है।’ नीना गुप्ता का उदाहरण देते हुए दीया मिर्जा कहती हैं कि वह एक अपवाद की तरह हैं।

कुछ फिल्ममेकर्स ने नीना गुप्ता जैसी ऐक्ट्रेस को लीड रोल में लेने का फैसला लिया है और उन्होंने उम्र को मात देते हुए शानदार ऐक्टिंग की है। लेकिन ऐसी कई अभिनेत्रियां जो अधेड़ उम्र में हैं, लेकिन काम के लिए संघर्ष कर रही हैं। इसकी वजह यह है कि सिनेमा में उन्हें केंद्र में रखते हुए कहानियां ही नहीं तैयार की जा रही हैं। ऐसे में उनके लिए रोल ही नहीं निकल पा रहे हैं। दीया मिर्जा ने कहा, ‘इंडस्ट्री पुरुष प्रधान है। अपने करियर को आगे बढ़ाने के लिए अधेड़ उम्र के ऐक्टर टीनएजर ऐक्ट्रेस के साथ फिल्में कर रहे हैं। यह देखने में अजीब लगता है कि 50 साल से ज्यादा की उम्र का हीरो 19 साल की ऐक्ट्रेस के साथ ऐक्टिंग करे।’

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है