नवाब होते हुए भी आम बच्चों की तरह ही गुज़रा Saif Ali Khan का बचपन,नहीं मिलती थी पॉकेट मनी

0
154

जो दिखता है सब उसी को सच मानते हैं। अक्सर ऐसा होता नहीं है, हकीक़त काफी अलग होती है। Bollywood के एक्टर और नवाब Saif Ali Khan नवाबी खानदान से हैं। लोगों को उनकी लाइफस्टाइल नवाबों जैसी भले ही लगती हो लेकिन वह इस पर बात कर चुके हैं। Saif Ali Khan ने बताया था कि उनकी परवरिश बहुत सामान्य हुई है।

एक पुराने इंटरव्यू में Saif Ali Khan बता चुके हैं कि जब वह बड़े हो रहे थे तो उनके माता-पिता बहुत मुश्किल से उन्हें पॉकेट मनी देते थे। हालांकि उन्होंने खुद को प्रिविलेज्ड भी माना था। बता दें कि Saif Ali Khan को अक्सर पटौदी खानदान का छोटा नवाब कहा जाता है। हालांकि उनका मानना है कि नवाबी सिर्फ फिल्मों तक ही सीमित है। अब नवाब नहीं बचे। वह खुद को नवाब समझते भी नहीं हैं।

एक इंटरव्यू में Saif Ali Khan ने कहा था, बेशक परवरिश के मामले में मैं प्रिविलेज्ड रहा हूं लेकिन जहां तक पैसे का सवाल है, मेरे पेरेंट्स मुझे पॉकेट मनी नहीं देते थे… मिलती भी थी तो सामान्य बच्चों की तरह ही मिलती थी। मेरी परवरिश सामान्य ही रही है और अब नवाब नहीं होते, यह टैग सिर्फ फिल्मों में बचा है।

Saif Ali Khan ने बताया, मेरे पिता (मंसूर अली खान पटौदी) आखिरी नवाब थे। और वह भी खुद को नवाब नहीं समझते थे। मेरी इमेज ऐसी इसलिए नहीं है क्योंकि मैं नवाब हूं लेकिन इसलिए है क्योंकि मैं फिल्मस्टार की लाइफस्टाइल एंजॉय करता हूं। कभी-कभी आप इमेज नहीं बदल पाते और ठीक भी है।

Saif Ali Khan से जब उनकी मां पर बायोपिक बनने पर सवाल किया गया तो बोले, मेरे पिता थोड़े ज़्यादा सिनेमैटिक हैं। उनकी जिंदगी में ज़्यादा उतार-चढ़ाव रहे हैं। मेरी मां एक गिफ्टेड आर्टिस्ट थीं, जो सुपरस्टार बनीं और दशकों तक सुपरस्टार रहीं। उनकी स्पोर्ट्समैन के साथ बढ़िया शादीशुदा जिंदगी रही और आरामदायक जिंदगी जी-कुछ खास ड्रामा नहीं था। मेरे पिता ने क्रिकेटर के तौर पर एक आंख खोई। उनसे कई चीजें छिन गईं जैसे कि पैसा। उनमें बहुत हिम्मत थी। उनका चीजें करने का तरीका बेहद स्टाइलिश था। उन पर बढ़िया बायोपिक बन सकती है।

यह भी पढ़ें – Hera Pheri 3 से Akshay Kumar हुए आउट, इस एक्टर की हुई एंट्री

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है