Delhi वालों को दमघोंटू हवा से नहीं मिली राहत

0
299

Diwali को ख़त्म हुए दो दिन बीत चुके हैं लेकिन Delhi वालों को दमघोंटू हवा से राहत नहीं मिली है। System of Air Quality and Weather Forecasting and Research (सफर) द्वारा शनिवार सुबह जारी आंकड़ों के मुताबिक आज भी Delhi की हवा ‘गंभीर श्रेणी’ में बनी हुई है। वहीं वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 533 दर्ज किया गया है।

सरकारी आंकड़ों से पता चलता है कि दिवाली की रात Delhi-NCR में हवा की गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गई और यहां तक ​​कि कनॉट प्लेस में हाल शुरू ‘स्मॉग टॉवर’ भी आसपास के निवासियों को सांस लेने योग्य हवा नहीं दे सका। Delhi Pollution Control Committee (डीपीसीसी) के आंकड़ों से पता चलता है कि दिवाली की रात, द्वारका-सेक्टर 8, पंजाबी बाग, वजीरपुर, अशोक विहार, आनंद विहार और जहांगीरपुरी में पीएम10 का स्तर 800 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर और 1,100 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर के बीच था।

Delhi में दीपावली के बाद हवा की गुणवत्ता में भारी गिरावट दर्ज की गई, जो शुक्रवार की सुबह ‘खतरनाक’ श्रेणी में पहुंच गई थी। पटाखों ने Delhi की हवा में जहर खोलने का काम किया है। यही वजह है कि राजधानी के आसमान में कोहरे की एक मोटी चादर बिछी हुई है। कई लोग गले में खराश और आंखों से पानी आने की शिकायत कर रहे हैं।

भारत में, 401-500 और उससे अधिक के एक्यूआई को ‘गंभीर’ श्रेणी में रखा गया है। इस तरह की हवा का स्वस्थ लोगों पर भी खतरनाक श्वसन (सांस लेना) प्रभाव होना लगभग निश्चित है। फेफड़े से जुड़ी समस्या के शिकार या हृदय रोग वाले मरीजों पर सबसे ज्यादा खतरा मंडराता है। इसके प्रभावों का अनुभव कम शारीरिक गतिविधि के दौरान भी किया जा सकता है।

पटाखों पर लगे प्रतिबंध का लोगों द्वारा उल्लंघन किये जाने और प्रदूषण में पराली जलाने का योगदान 36 प्रतिशत पहुंचने के बीच शुक्रवार को Delhi-NCR में 24 घंटे का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 462 पर पहुंच गया, जो पांच साल में दिवाली के अगले दिन का सबसे ज्यादा आंकड़ा है। पड़ोस के नोएडा में 24 घंटे का औसत AQI देश में सबसे ज्यादा 475 पर पहुंच गया। फरीदाबाद (469), ग्रेटर नोएडा (464), गाजियाबाद (470), गुरुग्राम (472) में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में दर्ज की गई।

यह भी पढ़ें – Bhai Dooj 2021: जानें भाई दूज तिलक का शुभ मुहूर्त

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है