Delhi-Varanasi का सफर होगा आसान, जल्द दौड़ेगी Bullet Train

0
246

एक जगह से दूसरी जगह जाने में जब ज़्यादा वक़्त लगता है तो सफर बोझिल लगने लगता है। मेट्रो ट्रेन लोगों को जल्दी उनकी मंज़िल तक पहुंचा देती है इसलिए लोग इसे पसंद करते हैं। उत्तर प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य है जिसके पांच शहरों में मेट्रो ट्रेन दौड़ रही है। नए एक्सप्रेस-वे और एयरपोर्ट से राज्य के इन्फ्रास्ट्रक्चर में हो रहे विकास के बीच सूबे को जल्द ही Bullet Train की सौगात भी मिल सकती है।

Delhi-Varanasi हाई स्पीड रेल कॉरिडोर (DVHSR) के 2029 तक पूरा हो जाने की उम्मीद है। 11 फरवरी को राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में रेल मंत्री ने बताया कि Delhi-Varanasi हाई स्पीड रेल कॉरिडोर समेत देशभर में 7 कॉरिडोर पर सर्वे कराकर और डिटेल प्रॉजेक्ट रिपोर्ट तैयार कराया जाएगा। सरकारी सूत्रों के हवाले से बताया है कि Delhi-Varanasi रूट पर कुल 13 स्टेशन होंगे। इनमें से 12 स्टेशन उत्तर प्रदेश में होंगे, जबकि 13वां दिल्ली में अंडरग्राउंड होगा। 813 किलोमीटर लंबे रूट पर 330 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड से ट्रेन दोड़ेगी।

सफर की शुरुआत दिल्ली में हजरत निजामुद्दीन से शुरू होगी तो पहला स्टेशन नोएडा सेक्टर 146 में होगा। इसके बाद ट्रेन जेवर एयरपोर्ट, मथुरा, आगरा, इटावा, कन्नौज, लखनऊ, रायबरेली, प्रतापगढ़, भदोही होते हुए मंडुवाडीह (वाराणसी) पहुंचेगी। लखनऊ में अवध क्रॉसिंग स्टेशन से एयरपोर्ट 4.5 किलोमीटर दूर और चारबाग रेलवे स्टेशन 5 किलोमीटर दूर होगा। प्लान के मुताबिक, इस रूट पर वाराणसी से हर 47 मिनट पर एक ट्रेन दिल्ली के लिए रवाना होगी। दिनभर में कुल 18 ट्रेनें यहां से रवाना होंगी। सुबह 6 बजे से आधी रात तक Bullet Train मिलेगी। अवध कॉसिंग पर हर दिन करीब 43 ट्रेनें पहुंचेंगी, जिनके बीच औसतन 22 मिनट का गैप होगा। बता दें कि वाराणसी से दिल्ली के बीच जहां अभी ट्रेनों को लगभग 10-12 घंटे लग जाते हैं, वहीं Bullet Train से यह सफर महज 3 घंटे 33 मिनट में पूरा हो जाएगा। अंडरग्राउंड स्टेशन के लिए 15 किलोमीटर की सुरंग भी बनाई जाएगी।

यह भी पढ़ें – IPL 2022: MS Dhoni ने कप्तानी को कहा अलविदा,ये प्लेयर बना CSK का नया कप्तान

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है