Uttarakhand में Ramlila के मंचों की कमान संभालने को मजबूर हैं बेटियां, जानें वजह

0
254

समाज कितना भी बदल गया हो लेकिन Ramlila का मंच आज भी उसी तरह जगमगाता है। कुछ जगह बदलते वक़्त के साथ कुछ बदलाव भी देखने को मिल रहे हैं। जिन Ramlila के मंचों पर पुरुष, महिला पात्रों की भूमिका निभाते थे वहीं आज इसका उलट हो रहा है। अब बेटियों ने पुरुषों का किरदार निभाना शुरू कर दिया है। दशकों से पहाड़ की अर्थव्यवस्था की रीढ़ रहीं बेटियों ने अब उत्तराखंड की सांस्कृतिक पहचान से जुड़ी रामलीलाओं को बचाने की जिम्मेदारी उठा ली है।

पलायन से खाली हो रहे गांवों में जब पात्रों का संकट होने लगा तो स्कूल और खेत खलिहानों के साथ बेटियों ने मंच भी संभाल लिया। अल्मोड़ा, बागेश्वर, पिथौरागढ़ और नैनीताल के कई गांव और कस्बों में अब बेटियां ही मुख्य किरदार निभा रही हैं। पहाड़ की रामलीलाओं में मुख्य अभिनय 12 से 14 साल के किशोर ही करते हैं। Corona टीकाकरण के लिए एकत्र की गई स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट बताती है, पहाड़ों में ऐसे किशोरों की संख्या बहुत कम रह गई है। पिथौरागढ़, बागेश्वर, अल्मोड़ा और चम्पावत में इस उम्र के महज 53,522 किशोर ही हैं।

पहाड़ की सांस्कृतिक और सामाजिक संरचना पर 15 से अधिक किताबें लिख चुके प्रयाग जोशी कहते हैं, स्कूलों की तलाश में पहाड़ सबसे ज्यादा खाली हुए हैं। बेटों को तो लोग गांव-कस्बों के सरकारी स्कूलों में भेजना ही नहीं चाहते। जोशी कहते हैं, Ramlila तो बेटियां बचा रही हैं लेकिन उत्तराखंड के अन्य लोकपर्वों से भी संकट टालना होगा।

कुछ साल पहले तक Ramlila में महिला कलाकारों का अभिनय भी पुरुष करते थे, लेकिन अब पुरुषों का अभिनय भी लड़कियां कर रही हैं। अल्मोड़ा में कर्नाटक खोला, नंदादेवी, हुक्का क्लब की Ramlila में कई मुख्य किरदार बेटियों के पास हैं। बागेश्वर के कांडा की रामलीला में भी अब बेटियां दिखाई देंगी। बेरीनाग में भी लड़कियों ने Ramlila में अभिनय की शुरुआत कर दी है।

समाजशास्त्र ने कहा, पहाड़ की Ramlila में बेटियों के प्रवेश की बड़ी वजह पलायन है। हालांकि मैदानी इलाकों में सांस्कृतिक बदलाव भी इसकी बड़ी वजह है। रंगमंच के क्षेत्र में लड़कियों का आगे आना सामाजिक बदलाव की ही निशानी है।

यह भी पढ़ें – अब आपका भी बिल आएगा ज़्यादा, Uttarakhand में महंगी हुई बिजली

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है