बुलडोज़र पर भारी पड़ी Cycle,सपा ने BJP को इस तरह दिया जवाब

0
206

हर पार्टी का कोई चुनाव चिन्ह होता है लेकिन लगता है BJP का अब कमल के चिन्ह से दिल भर गया है शायद इसलिए ही आज कल BJP कमल की जगह बुलडोज़र को पसंद करने लगी है। यूपी चुनाव में इस बार हाथी, कमल, पंजा और Cycle से ज़्यादा बुलडोज़र चर्चा में है। चुनाव में बुलडोज़र एक नया प्रतीक बनकर उभरा है। BJP जहां इसको कानून व्यवस्था से जोड़कर लोगों के सामने रख रही है। वहीं सपा बुलडोज़र को BJP का नया चुनाव निशान बता रही है।

BJP के बुलडोज़र प्रचार का सपा ने इटावा के रैली में जवाब दिया है। इटावा रैली के दौरान सपाइयों ने बुलडोज़र पर साइकिल लेकर नारेबाज़ी की। दरअसल BJP की रैली में बुलडोज़र दिखाकर जनता को नया संदेश देना चाह रही है। मकानों को ढहाने से लेकर निर्माण कार्यों में बेहद उपयोगी बुलडोज़र को अब BJP ने प्रचार का साधन भी बना लिया है। उत्तर प्रदेश में Yogi Adityanath सरकार की ओर से अपराधियों और माफियाओं के घर पर बुलडोज़र चलाए जाने को BJP मजबूती के रूप में पेश कर रही है। अब रैलियों में इसे शामिल करके संदेश दिया जा रहा है। इस पर राष्ट्रीय लोक दल के प्रमुख जयंत चौधरी ने हाल ही में ट्वीट कर कहा था यूपी को कलम चलाने की जरूरत है बुलडोज़र नहीं।

UP चुनाव में CM Yogi Adityanath बुलडोज़र के जारिए जनता की सुरक्षा को लेकर संदेश दे रहे हैं। कांठ में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए Yogi Adityanath ने कहा था कि BJP सरकार एक हाथ में विकास रखती है, जबकि दूसरे पर बुलडोज़र। इस बुलडोज़र का इस्तेमाल माफिया को भगाने के लिए किया जाता है। पहले रामलीला का मंचन नहीं किया जा सकता था, लेकिन अब रामलीला का मंचन किया जा रहा है। बता दें कि 15 फरवरी को BJP की एटा रैली में बुलडोज़र दिखा था। कुछ समर्थक बुलडोज़र पर BJP का झंडा लेकर बैठे हुए दिखे और जय श्री राम के नारे लगाते रहे। रैली को संबोधित करने के लिए पहुंचे उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि BJP राज में 2017 से 2022 के बीच सरकार ने भू-माफिया के खिलाफ ट्रेलर दिखाया, आगे देखना बुलडोज़र कैसे चलेगा।

यह भी पढ़ें – BJP की रैली में बुलडोज़र देख Jayant Chaudhary बोले, तोड़ने वाले नहीं, प्रदेश बनाने वाले चाहिए

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है