उत्तर प्रदेश विधानसभा के गेट नंबर 7 के पास अचानक गोली चल गई, जिससे आसपास हड़कंप मच गया। सचिवालय में तैनात दरोगा निर्मल चौबे को गोली लगी है। वह विधानसभा ड्यूटी पर तैनात थे। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां पर उनकी मौत हो गई। अचानक गोली चलने के बाद भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर तैनात हो गया है। घटना के बाद तुरंत चेकिंग भी शुरू करा दी गई है। हालांकि अभी तक इस बात की जानकारी नहीं मिली है कि गोली किसने चलाई और इसके पीछे उसका क्या मकसद था।

दरोगा बंथरा थाने में तैनात था और गुरुवार को सचिवालय के पास उसकी ड्यूटी लगी थी। दरोगा को गोली लगने की जैसे ही सूचना मिली, तुरंत हड़कंप मच गया। उन्हें तुरंत प्राथमिक उपचार के लिए सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने बताया कि पूरे मामले की छानबीन की जा रही है। अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि दारोगा ने खुद को गोली मारी है या गलती से फायरिंग होने की वजह से उनकी मौत हुई है।

दारोगा निर्मल चौबे मुख्य रूप से वाराणसी के निवासी थे। दरोगा यहां चिनहट में रहते थे। सूत्रों के मुताबिक वह कुछ दिनों से मानसिक रूप से भी परेशान थे। गोली उनकी सर्विस पिस्टल से चलाई गई है। गोली चलने की सूचना मिलने पर जेसीपी कानून व्यवस्था नवीन अरोरा सिविल अस्पताल पहुंचे। गोली दरोगा के सीने में लगी थी, जिससे उनकी मौत हो गई।

यह भी पढ़ें: India  के साथ रक्षा सौदों की America कर रहा समीक्षा

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है