Corona के नए Variant NeoCov ने दी दस्तक, पिछले सभी Variant से अधिक घातक

0
264

एक के बाद एक Corona virus के नए Variant ने दुनिया को हिला कर रख दिया है। जब दुनिया में Corona virus के Omicron Variant के केस कम होते दिख रहे हैं तो एक और Variant ने चिंताएं बढ़ा दी हैं। Corona के NeoCov Variant को घातक बताया जा रहा है।

चीन के वुहान के वैज्ञानिकों ने चिंता जताई है कि Corona का NeoCov Variant पिछले सभी Variant से अधिक घातक हो सकता है। वैज्ञानिकों ने बताया है कि Corona से पहले संक्रमित हो चुके या Corona का Vaccine लेने के बाद भी लोग NeoCov और PDF-2180-CoV से लोग संक्रमित हो सकते हैं।

वुहान में वैज्ञानिकों की एक रिसर्च पेपर के मुताबिक NeoCov मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम या MERS- Corona virus से संबंधित है। दक्षिण अफ्रीका में एक चमगादड़ में खोजा गया यह Virus सिर्फ जानवरों के बीच फैलने के लिए जाना जाता था। हालांकि अब यह देखा गया है कि NeoCov और PDF-2180-CoV एंट्री के लिए बैट ACE2 और ह्यूमन ACE2 सहित कुछ प्रकार के एंजियोटेंसिन-परिवर्तित एंजाइम का इस्तेमाल करते हैं।

मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम में Virus संक्रमित ड्रोमेडरी ऊंटों से इंसानों में ट्रांसफर किया गया था। वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाइजेशन के मुताबिक Virus की उत्पत्ति कैसे हुई, यह पूरी तरह से साफ नहीं है लेकिन Virus के जीनोम विश्लेषण किए जाने के बाद यह माना जाता है कि इसकी उत्पति चमगादड़ों में हुई थी और बाद में समय में ऊंटों में फैल गई।

जानें, क्या हैं NeoCov के लक्षण

ये एकदम से नया Variant नहीं है। MERS-CoV Virus बुखार, खांसी और सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षणों के मामले में SARS-CoV-2 जैसा है। 2012 से 2015 के दौरान मिडिल ईस्ट के देशों में फैला था। इससे हुए संक्रमण के कारण कई लोगों की मौत हो गई थी।

यह भी पढ़ें – UP BSP Candidate List 2022: जारी की गई BSP प्रत्याशियों की एक और सूची

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है