farukhabad

जिलाधिकारी ने अस्पताल की व्यवस्थाओं का लिया जायज़ा

उत्तर प्रदेश के कानपुर मंडल एल-1 कोविड अस्पताल में कोरोना मरीजों का कोटा फुल हो जाने के बाद अब फर्रुखाबाद जिले के बरौन के कोविड अस्पताल का प्रयोग किया जाएगा। यहां पर न सिर्फ फर्रुखाबाद के बल्कि आस पास के अन्य जनपदों के मरीजों को भी इलाज के लिए लाया जाएगा। आपको बता दें कि कोविड अस्पताल में सारी व्यवस्थाएं पूरी कर ली गई है। पैरामेडिकल स्टाफ के अलावा डॉक्टरों की तीन शिफ्टों में डयूटी तय की गई है। ये अस्पताल पचास  बेड का सुरक्षित किया गया है।

बता दें कि फर्रुखाबाद के कोरोना मरीज अभी तक कानपुर देहात, कन्नौज के तिर्वा, औरैया के दिवियापुर और इटावा के जसवंतनगर में भेजे गए हैं।

फर्रुखाबाद में कच्चा माल न मिलने पर छपाई उद्योग बंदी के कगार पर

मंडल स्तर के कोविड अस्पतालों में क्षमता के अनुसार मरीजों का कोटा फुल हो चुका है। ऐसे में अब यहां के बरौन कोविड अस्पताल का प्रयोग कोरोना मरीजों के इलाज के लिए किया जाएगा। 50 बेडों के इस अस्पताल में अलग अलग कक्ष बनाए गए हैं। इसमें सुरक्षा दृष्टिकोण के हिसाब से बेड की व्यवस्था कई कक्षों में की गई है। मरीजों के अलावा लैब के लिए एक कक्ष और दवा के लिए एक कक्ष बनाया गया है।

14 दिनों के लिए 25 पैरामेडिकल स्टाफ के अलावा डॉक्टरों की डयूटी रोस्टर बनाया गया है। तीनों टीमों को आठ-आठ घंटे यहां मरीजों की सेवा करनी होगी। टीम में डॉक्टर के अलावा वार्ड बॉय, स्टाफ नर्स, लैब टेक्नीशियन और सफाईकर्मी भी शामिल हैं। प्रभारी डॉक्टर अमित अग्रवाल यहां पर पूरी व्यवस्थाओं पर नजर रखे हुए हैं। वहीं डीएम ने अपनी टीम के साथ यहां अस्पताल की व्यवस्थाओं को परखा। जहां उन्होंने बताया कि ये 50 बेड के इस अस्पताल में अब मंडल स्तरीय मरीज शिफ्ट किए जाएंगे। जिले के कोविड अस्पताल में महज 24 घंटो में 6 कोरोना पॉजिटिव मरीजों को शिफ्ट कर दिया गया है जिनका यहां इलाज चल रहा है।

ABSTARNEWS के ऐप को डॉउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं