Coronavirus से निजात मिल गई है अगर आप ऐसा सोच रहे हैं तो आप गलत हैं। यूके में 3rd Wave की शुरुआत हो चुकी है। डेल्टा और डेल्टा प्लस वेरिएंट का संक्रमण देखा जा रहा है। भारत में कोविड की दूसरी लहर में डेल्टा वेरिएंट सबसे ज्यादा संक्रमण की वजह बना था। इसलिए भारत में भी 3rd Wave का खतरा बना हुआ है।

एक्सपर्ट का कहना है कि सेकंड वेव 110 दिनों की थी और 3rd Wave 98 दिनों की होगी। अब तक का पूर्वानुमान यह बता रहा है कि यूके में इसकी शुरुआत हो चुकी है और भारत में यह अगस्त के पहले हफ्ते के बाद कभी भी आ सकती है। कोविड एक्सपर्ट ने कहा कि कोविड की सेकंड वेव 110 दिनों की थी। महाराष्ट्र से इसका असर कम होना शुरू हुआ और दिल्ली, यूपी, बिहार, बंगाल ऐसे इसका ग्राफ कम होता गया। यह वायरस नेचुरल नहीं है, यह बायोइंजीनियर वायरस है। इसलिए इसका पूर्वानुमान भी सही हो रहा है।

एक्सपर्ट ने कहा कि यूके में 3rd Wave को शुरू हुए 17-18 दिन हो गए हैं। वहां से डेढ़-पौने दो महीने बाद भारत में नई वेव आएगी, जो 98 दिन की होगी। यह अगस्त के पहले हफ्ते के आसपास शुरू हो सकती है। उन्होंने कहा कि सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि नया वेरिएंट डेल्टा और डेल्टा प्लस फैला हुआ है।

3rd Wave को लेकर एम्स के कोविड एक्सपर्ट ने कहा कि 3rd Wave दो बातों पर निर्भर है। एक वायरस के बिहेवियर पर, जो हमारे हाथ में नहीं है। दूसरा इंसान के बिहेवियर पर, जो हमारे हाथ में है। जिस प्रकार उत्तराखंड और हिमाचल में पर्यटकों की भीड़ दिख रही है, वह बहुत बड़ी चिंता की बात है। इससे साफ दिख रहा है इंसान का बिहेवियर वायरस को फैलने, म्यूटेड करने और नए वेरिएंट को पनपने में मददगार बन रहा है। अगर ऐसी स्थिति रही तो 3rd Wave आएगी भी और पहले से ज्यादा खतरनाक हो जाएगी।

यह भी पढ़ें: CM Yogi ने दिए आदेश, UP में ब्लॉक स्तर पर DSP स्तर के अधिकारी करें तैनात

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है