घट रहा है Congress का वोट प्रतिशत,ठोस रणनीति की है ज़रूरत : Prashant Kishor

0
151

Congress की जो दशा है वो किसी से छुपी नहीं है। चुनावी रणनीतिकार Prashant Kishor(PK) ने कहा है कि भारतीय राष्ट्रीय Congress को मरने नहीं दिया जा सकता। उन्होंने कहा कि यह केवल राष्ट्र के साथ मर सकती है। Congress अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी के अन्य शीर्ष नेताओं के साथ बैठक के बाद PK ने यह बयान दिया है। 2019 के लोकसभा चुनावों में और फिर इस साल की शुरुआत में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को झटका लगा है।

Congress का लड़खड़ाता जहाज अब अपने खोए हुए गौरव को वापस पाने के लिए ठोस योजना पर निर्भर है। इसके लिए पार्टी नेतृत्व ने Prashant Kishor से जानकारी मांगी है। समझा जाता है कि उन्होंने Congress के पुनरुद्धार का खाका पेश कर दिया है। ख़बरों के मुताबिक, Prashant Kishor ने अपने प्रजेंटेशन में देश के राजनीतिक परिदृश्य में कांग्रेस की वर्तमान स्थिति को उसकी सांख्यिकीय ताकत और कमज़ोरियों पर विशेष ध्यान दिया। 2024 के लोकसभा चुनाव की तैयारी के लिए खाका बनाने की योजना है। इसमें देश की आबादी, Congress सांसदों और विधायकों की संख्या, महिलाओं, युवाओं, छोटे व्यापारियों और किसानों के प्रति पार्टी के दृष्टिकोण पर प्रकाश डाला गया। पीके ने 2024 में पहली बार वोट देने वाले 13 करोड़ मतदाताओं के महत्व पर भी ध्यान केंद्रित किया।

Congress के रणनीतिकारों का कहना है कि संगठन में बदलाव Prashant Kishor की चुनावी रणनीति को ध्यान में रखते हुए किए जाएंगे। पार्टी सीडब्लूसी की बैठक भी बुलाने की तैयारी कर रही है, ताकि Prashant Kishor की रणनीति पर चर्चा की जा सके। Prashant Kishor ने Congress नेतृत्व को याद दिलाया कि लोकसभा और राज्यसभा में Congress के सिर्फ 90 सांसद हैं और देश में 800 विधायक हैं। उन्होंने कहा कि Congress तीन राज्यों में सत्ता में है, जबकि वह तीन और राज्यों में गठबंधन सरकारों का हिस्सा है। यह 13 राज्यों में मुख्य विपक्षी दल है। उन्होंने Congress को बताया कि 1984 के बाद से उसका वोट प्रतिशत घट रहा है। ऐसे में ठोस रणनीति की ज़रूरत है।

यह भी पढ़ें – अपनी इस हरकत की वजह से Akshay Kumar ने दर्शकों से मांगी माफ़ी

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है