आने वाली पीढ़ियां किसानों की एकता और संघर्ष को याद रखेंगी: CM Kejriwal

0
207

देश में आज की तारीख़ हमेशा याद रखी जाएगी, केंद्र के तीन नए विवादित कृषि कानून रद्द होने पर आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के CM Arvind Kejriwal ने खुशी जताते हुए इस कदम को Kisano की जीत बताया है।

तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ किसान आंदोलन को अब एक साल होने जा रहा है। CM Arvind Kejriwal ने कहा कि मैं देश के सभी Kisano को बधाई देता हूं। उनके आंदोलन के परिणाम सामने आए। अगर ऐसा जल्दी किया जाता तो 700 Kisano की जान बचाई जा सकती थी। फिर भी, यह बड़ा कदम है। शायद भारत के इतिहास में पहली बार, सरकार एक आंदोलन के कारण 3 कानून वापस ले रही है।

CM Arvind Kejriwal ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा, ”आज प्रकाश दिवस के दिन कितनी बड़ी खुशखबरी मिली। तीनों कानून रद्द। 700 से ज्यादा किसान शहीद हो गए। उनकी शहादत अमर रहेगी। आने वाली पीढ़ियां याद रखेंगी कि किस तरह इस देश के Kisano ने अपनी जान की बाजी लगाकर किसानी और किसानों को बचाया था। मेरे देश के किसानों को मेरा नमन।”

कृषि कानून रद्द होने पर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि सरकार को उन तमाम किसान परिवारों से माफी मांगनी चाहिए जिन्होंने इस आंदोलन की वजह से अपनी जान गंवाई। भाजपा के यही लोग थे जिन्होंने Kisano को आतंकवादी बताया था। सरकार का Kisano के साथ एक साल तक ऐसा व्यवहार करना गलत था।

वहीं, तीनों कृषि कानून वापस होने का संयुक्त किसान मोर्चा ने स्वागत किया है। मोर्चा ने कहा कि PM Modi ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए प्रकाश पर्व का दिन चुना है। हम उनके इस फैसले का स्वागत करते हैं। मगर हम इस फैसले के लागू होने की प्रक्रिया के पूरा होने का इंतजार करेंगे। मगर अभी भी एमएसपी जैसे मुद्दे की हमारी मांग पूरी नहीं हुई है। हम जल्द ही केंद्र के इस फैसले पर मोर्चा की बैठक बुलाएंगे और आगे का फैसला करेंगे।

यह भी पढ़ें – Kisano को समझाने में असफल रहे PM Modi, वापस लिए तीनों Krishi Kanoon

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है