CM Yogi का फरमान, अब प्रयागराज, आगरा और गाजियाबाद में भी होंगे पुलिस कमिश्नर

0
124

देश की कानून-व्यवस्था बेहतर हो ऐसा सभी चाहते हैं इसके लिए प्रदेश की Yogi सरकार लगातार काम भी काम भी कर रही है। Yogi सरकार अब प्रयागराज, आगरा और गाजियाबाद में भी पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू करने जा रही। आज (25 नवंबर) को मुख्यमंत्री CM Yogi Adityanath की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में इस प्रस्ताव पर मुहर लगी। बता दें कि यूपी के चार जिलों- लखनऊ, कानपुर, वाराणसी और नोएडा में पहले से ही पुलिस कमिश्नरेट की व्यवस्था लागू है।

सबसे पहले लखनऊ और नोएडा में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू की गई थी। इसके बाद कानपुर और वाराणसी में इसे लागू किया गया। अब 7 जिलों में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू होगी। डीजीपी ऑफिस की तरफ से इसका प्रस्ताव गृह विभाग के पास भेजा गया था। बताया जा रहा है कि 2025 में होने वाले कुंभ मेले को देखते हुए प्रयागराज में पुलिस कमिश्नर की तैनाती की जाएगी। इसके अलावा गाजियाबाद और आगरा भी दो अहम शहर हैं। यहां की भी कानून-व्यवस्था में बेहतर सुधार करने के लिए पुलिस कमिश्नर की तैनाती होगी।

आज सीएम आवास 5 केडी पर सुबह 10 बजे हुई कैबिनेट बैठक में कुल 16 प्रस्तावों पर मुहर लगी। इनमें नई खेल नीति, उद्योग और परिवहन विभाग समेत कई अहम प्रस्ताव पास हुए। इसके अलावा रोडवेज बसों को अमर शहीदों का नाम मिलेगा। यूपी रोडवेज की बस अड्डे और बस सेवाओं को स्वतंत्रता आंदोलन की घटनाओं और उनके नायकों के नाम से जाना जाएगा। कैबिनेट की बैठक में 23 बस अड्डों को पीपीपी मोड पर विकसित करने के भी प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।

जानें, किन प्रस्तावों पर भी लगी मुहर

  • जिला अस्पताल से मेडिकल कॉलेज बनाए गए 14 अस्पतालों की चल अचल संपत्तियों और स्टॉफ को मेडिकल कॉलेज को दी गई।
  • मुख्यमंत्री शौर्य बुनकर ऊर्जा योजना को भी बैठक में मंजूरी दी गई।
  • साथ ही अयोध्या में नगर निगम विभाग का कार्यालय बनाने के लिए जमीन का प्रस्ताव भी मंजूर कर लिया गया।
  • पीडब्ल्यूडी के मार्गों पर पेट्रोल पंप के लिए एनओसी में सरलीकरण के लिए प्रस्ताव को मंजूरी दी गई।
  • नैमिशराण्य धाम को तीर्थ क्षेत्र विकास परिषद के गठन को मंजूरी मिली।
  • अलीगढ़ की नगर पंचायत टप्पल अब नगर पंचायत ना रह के यमुना एक्सप्रेसवे का हिस्सा रहेगा।
  • वाराणसी में रोप वे के विकास के लिए मार्ग विकास को मंजूरी प्रदान की गई।

यह भी पढ़ें – आख़िर क्यों बैन कर दी गई Jama Masjid में लड़कियों की एंट्री, जानें वजह

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है