राजस्व विभाग आने वाले चार महीनों में टैक्स कलेक्शन बढ़ाने के लिए सख्त कदम उठा रहा है।

केंद्र सरकार ने जीएसटी कलेक्शन के आकड़े जारी किये हैं। जुलाई 2019 में GST लागू किए जाने के बाद यह 9वां ऐसा महीना है, जब GST कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपये को पार कर चुका हैं तो वहीं लगातार साल के आखिरी महीने मतलब दिसंबर में जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपये को पार कर गया हैं।

Image result for नए साल के मौके पर GST से जुड़ी ये खबर सरकार को राहत देने वाली है

नवंबर में कुल 1,03,492 करोड़ रुपये की GST वसूली हुई थी। साथ ही दिसंबर में ये आंकड़ा 1,03,184 करोड़ रुपये रहा है।  अगर अप्रैल से लेकर दिसंबर तक के आंकड़ों की बात करें तो अगस्त, सितंबर और अक्टूबर तीन ऐसे महीने रहे हैं। जब जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपये के नीचे रहा है। वहीं मौजूदा वित्त वर्ष में अप्रैल महीने के दौरान जीएसटी कलेक्शन सबसे ज्यादा 1,13,865 करोड़ रुपये रहा था।

GST काउंसिल की बैठक, आज होगी अहम बैठक

Image result for नए साल के मौके पर GST से जुड़ी ये खबर सरकार को राहत देने वाली है

टैक्स अधिकारियों को बताया गया कि GST कलेक्शन के साथ ही 2019-20 के लिए निर्धारित प्रत्यक्ष टैक्स कलेक्शन के लक्ष्य 13.35 लाख करोड़ रुपये को भी पार करना होगा। सरकार ने 2019-20 में 13.35 लाख करोड़ रुपये प्रत्यक्ष कर से जुटाने का लक्ष्य रखा है। साथ ही राजस्व विभाग आने वाले चार महीनों में टैक्स कलेक्शन बढ़ाने के लिए सख्त कदम उठा रहा है। तो वहीं विभाग ने सीबीआईसी, सीबीडीटी के सदस्यों समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष कर का लक्ष्य हासिल करने के लिए कहा गया हैं। उन्होंने कहा कि वसूली बढ़ाने के प्रयास करने के निर्देशों के साथ-साथ अधिकारियों को यह भी ध्यान रखने को कहा गया है कि वसूली अभियान के दौरान किसी करदाता को अनावश्यक दिक्कत या परेशानी ना हो।