priyagraj

लॉकडाउन के कारण आए दिन प्रवासी मजदूरों के पलायन का सिलसिला जारी है। जिसमें लाखों मजदूर एक राज्य से दूसरे राज्य में पलायन कर रहे है और हादसों का शिकार हो रहे है।

लॉकडाउन के कारण आए दिन प्रवासी मजदूरों के पलायन का सिलसिला जारी है। जिसमें लाखों मजदूर एक राज्य से दूसरे राज्य में पलायन कर रहे है और हादसों का शिकार हो रहे है। एक ऐसा ही हादसा उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में घटित हुआ है। जहां प्रवासी मजदूरों की बस पलट गई है। इस हदसे में 35 मजदूर घायल हो गए है और तीन मजदूरों की हालत गंभीर बताई जा रही है। वहीं कुछ मजदूरों की हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है।

बीते दो दिन पहले घर में लगी आग 3 महिलाओं की झुलस कर हुई मौत।

दरअसल ये बस जयपुर से वेस्ट बंगाल की तरफ जा रही थी तभी ये हादसा प्रयागराज के नवाबगंज में इलाके में हुआ। हादसे की वजह ये बताई जा रही है कि बस चालक को अचानक झपकी आ गई और बस अनियंत्रित होकर सबसे पहले डिवाइडर से टकराई, जिसके बाद बस हाईवे के किनारे लगे लोहे की रॉड को तोड़कर नीचे सर्विस रोड के नाले में चली गई। सभी मजदूरों को इलाज के लिए सीएचसी कौड़िहार अस्पताल भेजा गया है जहां नौ मजदूरों की हालत गंभीर होने की वजह से उन्हें जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया है। इस बस में करीब 45 लोग सवार थे जो बिहार, झारखंड और वेस्ट बंगाल की तरफ जा रहे थे।

मस्जिदों में नहीं घर पर अदा होगी नमाज- ज़िलाधिकारी

वहीं इस मामले को लेकर प्रयागराज, एसडीएम सोरांव सुनील चतुर्वेदी का कहना है कि सभी प्रवासी मजदूर निजी बस से राजस्थान से बिहार की ओर जा रहे थे। बस में बिहार और झारखंड प्रांत के मजदूर हैं। नाजुक हालत में नौ प्रवासी मजदूरों को तेज बहादुर सप्रू अस्पताल भेजा गया है। बाकी 26 मजदूरों का सीएचसी कौड़िहार में इलाज चल रहा है।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है