UP में BJP सरकार फिर से सत्ता में आने के लिए पुरज़ोर कोशिश कर रही हैं। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में अब पांच महीने से भी कम का समय बचा है और पिछली जीत को दोहराने के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) हर संभव प्रयास करने में जुटी हुई है।

BJP अब अपने चुनावी एजेंडा के तहत BJP के अंदर 100 प्रोग्राम करने की तैयारी में है। मतदाताओं से जुड़ने के लिए पार्टी के 100 दिनों के इस कार्यक्रम पर आखिरी दौर की वार्ता के लिए मंगलवार को Delhi में रणनीतिक बैठक भी बुलाई गई। सूत्रों के मुताबिक, संगठन महासचिव सुनील बंसल, यूपी प्रभारी राधा मोहन सिंह, यूपी BJP चीफ स्वतंत्र देव सिंह रणनीति पर चर्चा के लिए Delhi में पार्टी राष्ट्रीय महासचिव बीएल संतोष से Delhi में मिल रहे हैं। सूत्रों ने यह भी बताया कि BJP सरकार की तरफ से शुरू की गईं कल्याणकारी योजनाओं के साथ मतादताओं तक पहुंचने के लिए एक विस्तृत योजना तैयार की जा रही है।

BJP के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि हर मोर्चे को विधानसभा क्षेत्रवार अपने कार्यक्रमों और बैठकों को पूरा करने के लिए तय दिनों का समय दिया जाएगा। हर मोर्चे को हर विधानसभा क्षेत्र तक पहुंचना है। सूत्रों ने बताया, इस सूची में पन्ना प्रमुख सम्मेलन मंडलवार, छह क्षेत्रों में सदस्यता अभियान, कमल दीवाली, हर बूथ पर 100 सदस्यों को शामिल किया जाना और उन 81 सीटों पर रैलियां शामिल हैं, जो BJP पिछले विधानसभा चुनावों में हार गई थी।

Delhi में बुलाई गई बैठक के दौरान न सिर्फ उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों की रणनीति पर चर्चा होनी है बल्कि अपने काडर और नेताओं को एक-एक वोटर तक कैसे पहुंचाना है, इस पर भी विचार किया जाएगा। इसके साथ ही विपक्षी पार्टियों की तरफ से हिंदू वोटों को बांटने की कोशिशों को लेकर भी बातचीत होगी। रविवार को Uttar Pradesh के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बैठक बुलाई, जिसमें इन कार्यक्रमों को लेकर फैसले किए गए। इसके बाद वरिष्ठ नेताओं ने शीर्ष नेतृत्व को जानकारी देने के लिए Delhi कूच किया है। बता दें कि Uttar Pradesh Assembly Elections अगले साल शुरुआत में ही होने हैं।

यह भी पढ़ें: दहलने से बच गई Delhi, लक्ष्मी नगर से पाक आतंकी गिरफ़्तार

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है