PM मोदी और शाह को अपना नेता बताने वाले चिराग ने बदली अपनी रणनीति

बिहार विधानसभा चुनाव का वक़्त जैसे जैसे क़रीब आ रहा है कुछ न कुछ नया देखने को मिल रहा है। शायद सियासत इसी को कहते हैं। जहां पल भर में कोई किसी की तारीफ करते दिख जाएगा और पल भर में वहीं बुराइयों का अंबार लगा दिया जाता है। कुछ ऐसा ही हाल आज कल बिहार में देखने को मिल रहा है। अब चिराग पासवान बिहार चुनाव में मोदी और शाह के नाम पर वोट नहीं मांगेंगे। कुछ वक़्त पहले तक बीजेपी और एलजेपी से ज़्यादा पक्की दोस्ती किसी और पार्टी में नहीं देखी जा रही थी और अब हालत ये हो गई है कई भारतीय जनता पार्टी ने लोकजनशक्ति पार्टी (एलजेपी) को कड़ा संदेश दिया है।

बिहार में बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेगी BJP और JDU

बीजेपी ने चिराग पासवान और एलजेपी को साफ संदेश दिया है कि वह बिहार चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का नाम लेकर वोट नहीं मांग सकते हैं। बीजेपी सूत्रों का कहना है कि एलजेपी से साफ तौर से कहा गया है कि वह बिहार चुनाव में किसी भी किस्म से बीजेपी का नाम नहीं लेंगे। क्योंकि बिहार में दोनों पार्टियां अलग-अलग दमखम दिखा रही हैं। बता दें कि एलजेपी से कहा गया है कि उनकी पार्टी के किसी बैनर, पोस्टर या भाषण में पीएम मोदी और बीजेपी का नाम नहीं लिया जाना चाहिए। जब कोई पार्टी एनडीए से अलग हो गई है तो उसे किसी भी किस्म से पीएम मोदी के नाम को यूज करने की इजाजत नहीं दी जा सकती है।

बिहार हुआ तैयार, देखना बाकी किसकी बनेगी सरकार

हाल ही में एलजेपी प्रमुख चिराग पासवान ने कहा था कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को अपना नेता मानते हैं, इसलिए वह उनके नाम पर वोट मांगेंगे। लेकिन अब एलजेपी अकेले ही बिहार विधानसभा चुनाव में भाग्य आज़मा रही है। एलजेपी केंद्र सरकार में बीजेपी सहयोगी बनी रहेगी, लेकिन बिहार में वह उसके खिलाफ चुनाव मैदान में उतरेगी। एलजेपी ने घोषणा की है कि चुनाव के बाद वह बीजेपी की सरकार बनाने में सहयोग करेंगे।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है