अमोनिया गैस रिसाव से दो अफसरों की मौत

प्रयागराज के फूलपुर इफको प्लांट में मंगलवार रात बड़ा हादसा हो गया। प्लांट में अमोनिया गैस के रिसाव से दो अफसरों की मौत हो गई, और 18 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। सूचना मिलतो ही इफको और प्रशासनिक अधिकारियों में हड़कंप मच गया। आनन फानन में सभी कर्मचारियों को बाहर निकाला गया और घायलों को शहर के निजी अस्पताल ले जाया गया। इलाज के दौरान दो कर्मियों की मौत हो गई।

फूलपुर में स्थित इफ्को प्‍लांट एशिया स्‍तर की यूरिया उत्‍पादन की फैक्‍ट्री है। जिस समय फूलपुर स्थित इफ्को प्‍लांट में अमोनिया गैस का रिसाव हुआ, उस समय वहां 100 से अधिक कर्मचारी काम में जुटे थे। अमोनिया गैस रिसाव की जानकारी मिलने पर वहां इफ्को के वरिष्ठ अधिकारी पहुंचे और साथ ही सूचना मिलने पर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी भी वहां पहुंच गए। तुरंत सभी कर्मचारियों को बाहर निकाला गया औऱ राहत कार्य शुरु किया गया।

आइये जानते हैं पूरा मामला

इफको के पी-1 यूनिट में मंगलवार रात लगभग 11:00 बजे अमोनिया गैस पाइप का कोई पार्ट अचानक निकल गया और इससे अमोनिया गैस लीक करने लगी। वहां काम कर रहे दो कर्मचारी उसे ठीक करने के लिए गए, लेकिन अमोनिया गैस की चपेट में आने से वह गंभीर रुप से झुलस गए। उसके बाद वहां मौजूद कर्मचारियों ने दोनों को सुरक्षित बाहर निकाला लेकिन तब तक पूरी यूनिट में अमोनिया गैस फैल चुकी थी। इससे लगभग 15 कर्मचारी घायल हो गए और कुछ लोग तो वहीं बेहोश होने लगे। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे एक्सपर्ट ने स्थिति पर काबू पा लिया। इफ़को के पीआरओ विश्वजीत श्रीवास्तव ने गैस लीक होने की पुष्टि की। बताया जा रहा है कि अमोनिया की चपेट में आने से बीमार हुए धर्मवीर सिंह, लालजी, हरिश्चंद्र, अजीत कुशवाहा, अजीत, राकेश कुमार, शिव, काशी, बलवान, अजय यादव, सीएस यादव और आरआर विश्कर्मा को इफको में बने निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं बीपी सिंह, अभिनंदन, एसपी राम और राकेश की हालत बिगड़ने पर उन्हें शहर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मौके पर पहुंचे एसपी गंगापार धवल जायसवाल, सीओ रामसागर, एसडीएम युवराज सिंह और इफको के यूनिट हेड मोहम्मद मसूद आदि अफसर बचाव अभियान में लगे रहे।

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है