2024 के चुनावों के लिए नहीं है ‘Bharat Jodo Yatra’ : Rahul Gandhi

0
188

देश में इन दिनों कांग्रेस सांसद Rahul Gandhi बहुत मेहनत कर रहे हैं और ‘Bharat Jodo Yatra’ के तहत इन दिनों कर्नाटक में घूम रहे हैं। इस दौरान Rahul Gandhi आम जनता से लेकर ख़ास लोगों से भी मिल रहे हैं और उनकी राय जान रहे हैं। शनिवार(8 अक्टूबर) को तुमकुरु में उन्होंने मीडियाकर्मियों से बातचीत में BJP और RSS पर जमकर निशाना साधा।

Rahul Gandhi ने कहा कि मेरी समझ के मुताबिक RSS अंग्रेजों की मदद करता था और सावरकर को अंग्रेजों से वज़ीफा मिल रहा था। उन्होंने कहा कि ये ऐतिहासिक तथ्य है… स्वतंत्रता संग्राम में कहीं भी भाजपा नहीं दिखेगी।

Rahul Gandhi ने कहा कि यह Congress पार्टी के नेता थे जिन्होंने अंग्रेजों से लड़ाई की, जिन्होंने जेल में कई साल बिताए। महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, वल्लभ भाई पटेल… उन्होंने अंग्रेजों से लड़ते हुए अपनी जान दे दी। उन्होंने कहा, ‘इससे फर्क नहीं पड़ता कि नफरत फैलाने वाले व्यक्ति कौन हैं और किस समुदाय से आते हैं। नफरत और हिंसा फैलाना एक राष्ट्र-विरोधी कार्य है और हम हर उस व्यक्ति के खिलाफ लड़ेगे जो नफरत फैलाएगा।’

Rahul Gandhi ने इन आशंकाओं को खारिज कर दिया कि गांधी परिवार पार्टी के अगले अध्यक्ष को रिमोट से नियंत्रित कर सकता है। उन्होंने कहा कि अध्यक्ष पद का चुनाव लड़ रहे दोनों उम्मीदवार मल्लिकार्जुन खरगे और शशि थरूर कद्दावर और अच्छी समझ रखने वाले व्यक्ति हैं। कुछ लोगों का कहना है कि गांधी परिवार अगले कांग्रेस अध्यक्ष को रिमोट से नियंत्रित कर सकता है। इस बारे में पूछे जाने पर गांधी ने कहा, ‘दोनों लोग जो (चुनाव में) उतरे हैं, उनकी एक हैसियत है, एक दृष्टिकोण है और वे कद्दावर व अच्छी समझ रखने वाले व्यक्ति हैं। मुझे नहीं लगता कि उनमें से कोई भी रिमोट कंट्रोल से चलने वाला है। सच कहूं तो ये बातें उन्हें अपमानित करने के लिए कही जा रही हैं।’

Rahul Gandhi ने कहा कि ‘Bharat Jodo Yatra’ 2024 के चुनावों के लिए नहीं है। हम भाजपा, आरएसएस की ओर से किए जा रहे देश विभाजन के खिलाफ लोगों को एकजुट करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि हम नई शिक्षा नीति का विरोध कर रहे हैं, क्योंकि यह हमारे इतिहास, परंपराओं को विकृत कर रही है। हम विकेंद्रीकृत शिक्षा प्रणाली चाहते हैं। Rahul Gandhi ने कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव के लिए मल्लिकार्जुन खरगे और शशि थरूर की उम्मीदवारी पर कहा कि वे कद्दावर और अच्छी समझ रखने वाले लोग हैं।

यह भी पढ़ें – Indian Air Force 2022: सरकार के बचेंगे करोड़ रुपए, आजादी के बाद पहली बार बनेगी Air Force की नई ब्रांच

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है