BCCI ने टी-20 कप्तानी नहीं छोड़ने का अनुरोध नहीं किया:Virat Kohli

0
314

Indian Cricket में इन दिनों काफी कुछ चल रहा है। हालात देखते हुए Virat Kohli ने बुधवार(15 दिसंबर) को वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि BCCI अध्यक्ष Sourav Ganguly ने उनसे टी-20 कप्तानी नहीं छोड़ने का अनुरोध नहीं किया था। BCCI ने Virat Kohli के सनसनीखेज दावे को खारिज कर दिया है।

BCCI के एक अधिकारी ने बताया कि बोर्ड ने सितंबर में Virat Kohli से बात की थी और उनसे कप्तानी नहीं छोड़ने का अनुरोध किया था। इसके अलावा Virat Kohli को वनडे कप्तानी के मामले में भी लूप में रखा गया था। Virat Kohli के खुलासे के बाद BCCI के एक अधिकारी ने कहा,’ Virat Kohli यह नहीं कह सकते कि हमने उन्हें लूप में नहीं रखा। हमने सितंबर में Virat Kohli से बात की थी और उन्हें टी-20 कप्तानी नहीं छोड़ने के लिए कहा था। जब Virat Kohli ने टी-20 कप्तानी छोड़ दी, तो सफेद गेंद के 2 कप्तान बनाना मुश्किल था। बैठक की सुबह चेतन शर्मा ने Virat Kohli को वनडे कप्तानी के बारे में बताया था।’

गौरतलब है कि Sourav Ganguly ने Virat Kohli से वनडे कप्तानी वापस लेने के बाद कहा था कि उन्होंने Virat Kohli से टी-20 की कप्तानी नहीं छोड़ने का अनुरोध किया था। लेकिन Virat Kohli ने उनकी बात नहीं मानी। Virat Kohli ने बुधवार को कहा कि जब मैंने टी-20 कप्तानी छोड़ी तो मैंने पहले BCCI से संपर्क किया और उन्हें अपने फैसले के बारे में बताया और उनके (पदाधिकारियों) सामने अपना नजरिया रखा।’ भारतीय कप्तान ने Sourav Ganguly के कुछ दिन पहले के बयान से बिलकुल विपरीत जानकारी देते हुए कहा, ‘मैंने कारण बताए कि आखिर क्यों मैं टी-20 कप्तानी छोड़ना चाहता हूं और मेरे नजरिए को अच्छी तरह समझा गया। कुछ गलत नहीं था, कोई हिचक नहीं थी और एक बार भी नहीं कहा गया कि आपको टी-20 कप्तानी नहीं छोड़नी चाहिए।’

Virat Kohli ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में खुलासा किया कि आठ दिसंबर को टेस्ट सीरीज के लिए चयन बैठक से डेढ़ घंटा पहले मेरे साथ संपर्क किया गया और इससे पहले टी-20 कप्तानी को लेकर मेरे फैसले की घोषणा के बाद से मेरे साथ कोई संपर्क नहीं किया गया था। मुख्य चयनकर्ता ने टेस्ट टीम पर चर्चा की जिस पर हम दोनों सहमत थे। बात खत्म करने से पहले मुझे बताया गया कि पांच चयनकर्ताओं ने फैसला किया है कि मैं वनडे का कप्तान नहीं रहूंगा जिस पर मैंने कहा ‘ठीक है, कोई बात नहीं।’

उन्होंने आगे कहा, ‘मेरे कप्तानी छोड़ने के फैसले को BCCI ने प्रगतिशील और सही दिशा में उठाया गया कदम करार दिया था। उस समय मैंने कहा था कि हां, टेस्ट और वनडे में मैं (कप्तान) बरकरार रहना चाहता हूं जब तक कि पदाधिकारियों और चयनकर्ताओं को लगता है कि मुझे इस जिम्मेदारी को निभाते रहना चाहिए।’ BCCI के साथ मेरा संवाद स्पष्ट था। मैंने विकल्प दिया था कि अगर पदाधिकारियों और चयनकर्ताओं की सोच कुछ और है तो यह (फैसला) उनके हाथ में है।’

यह भी पढ़ें – अब महज़ 20 मिनट में होगी Omicron संक्रमण की जांच

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है