जिसके लिए Ankita Bhandari को मनाया जा रहा था, दशहरे के बाद आने वाले थे वो VIP Guest!

0
290

आज Ankita Bhandari हमारे बीच नहीं है लेकिन हर बार आपने यही सुना होगा कि आरोपियों ने Ankita के साथ VIP Guest को लेकर बात की थी। आरोपी लगातार Ankita को VIP Guest के साथ स्पेशल टाइम बिताने के लिए बोल रहे थे लेकिन ये VIP Guest कौन थे इस बारे में अभी तक ख़ुलासा नहीं हुआ है। Ankita Bhandari Murder Case की जांच में एक और अहम बात सामने आ रही है। बताया जा रहा कि वनंतरा रिजॉर्ट में अक्तूबर के पहले हफ्ते के आखिर में कुछ VIP Guest आने वाले थे। इसके लिए वहां बड़ी पार्टी के आयोजन की तैयारी थी। लिहाजा, एसआईटी इन VIP Guest का पता लगा रही है।

पुलिस मुख्यालय के मुख्य प्रवक्ता एडीजी वी. मुरुगेशन ने बताया कि जांच में ऐसी बातें आ रही हैं कि अक्तूबर के पहले सप्ताह के आखिर में वहां कुछ बड़ी बुकिंग थी। वहां कौन लोग आने वाले थे, इसकी जांच की जा रही है। अगर उनका इस मामले से कोई लिंक जुड़ा तो उनसे भी पूछताछ की जाएगी। वनंतरा रिजॉर्ट में काले रंग की एक गाड़ी की बात भी सामने आ रही है, उसका पता लगाया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि आरोपियों की रिमांड के दौरान पूछताछ में अब तक की पूरी कहानी लगभग सही साबित हुई है।

सूत्रों ने बताया कि इस हत्याकांड की जांच का दायरा Ankita Bhandari के दोस्त तक भी पहुंच गया है। पुलिस अभी उसकी ओर से दी गई चैटिंग की जांच-पड़ताल कर रही। इसके अलावा उसकी लोकेशन, नौकरी दिलवाने और आरोपियों से संपर्क की भी जांच की जा रही है। नौकरी दिलवाना और उसके बाद Ankita Bhandari के घरवालों को बताए बिना उसे लेने आने की बात कहने की जांच तेज़ी से हो रही है।

पूर्व सीएम हरीश रावत ने Ankita Bhandari Murder Case को लेकर भी गंभीर सवाल उठाए। उन्होंने कहा, इस केस में बार-बार किसी वीआईपी का जिक्र आ रहा है। सरकार को जल्द से जल्द इसका खुलासा करना चाहिए। साथ ही जहां तहां बन रहे रिजॉर्ट की निगरानी का भी सख्त सिस्टम बनाना होगा। यह देखा जाना चाहिए कि आखिर कौन लोग हैं, जो यहां इस प्रकार रिजॉर्ट तैयार कर रहे हैं। और, इनका क्या उपयोग हो रहा है? उन्होंने साफ कहा कि पर्यटन के नाम पर अपसंस्कृति को कदम रखने की अनुमति नहीं दी जा सकती।

एडीजी के अनुसार, पोस्टमार्टम रिपोर्ट और तमाम गवाहों के बयान भी यही संकेत दे रहे हैं कि इस रिजॉर्ट के काले-कारनामे छिपाने के लिए अंकिता की हत्या की गई। हालांकि, अभी जांच जारी है और इसमें तीन से चार सप्ताह का वक्त लग सकता है। उन्होंने बताया कि अभी फॉरेंसिक रिपोर्ट और इलेक्ट्रॉनिक सबूत भी मिलने हैं, जो इस मुकदमे को और पुख्ता करेंगे।

एडीजी ने बताया कि इस मामले में हत्या के अलावा साक्ष्य मिटाने की धारा आईपीसी-201 के तहत भी मुकदमा चलाया गया है। उन्होंने साफ किया कि जांच में जो लोग भी संलिप्त पाए जाएंगे, उनके नाम भी इस मुकदमे में जोड़े जाएंगे। उन्होंने यह भी बताया कि पुलिस हत्या से लेकर बुलडोजर चलाने समेत तमाम पहलुओं पर जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें – Bigg Boss 16 : अपनी क्यूटनेस से दूसरे कंटेस्टेंट पर भारी पड़ रहे हैं Abdu Rozik

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है