Amla Navami 2021: जानें, क्यों की जाती है आंवले के पेड़ की पूजा

0
180

दिवाली के बाद अब Amla Navami मनाई जाएगी। कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष के नवमी तिथि को Amla Navami मनाते हैं। Amla Navami को अक्षय नवमी के नाम से भी जानते हैं। इस साल Amla Navami 12 नवंबर, शुक्रवार को है।

हिंदू धर्म में Amla Navami का विशेष महत्व है। मान्यता है कि Amla Navami के दिन दान करने से पुण्य का फल इस जन्म के साथ अगले जन्म में भी मिलता है। शास्त्रों के अनुसार, Amla Navami के दिन Amla के वृक्ष की पूजा करने से व्यक्ति को पापों से मुक्ति मिलती है। Amla Navami के दिन आंवला के वृक्ष की पूजा करते हुए परिवार की खुशहाली और सुख-समृद्धि की कामना की जाती है। इसके साथ ही इस दिन वृक्ष के नीचे बैठकर भोजन किया जाता है। प्रसाद के रूप में भी Amla खाया जाता है।

मान्यता है कि इस दिन द्वापर युग का प्रारंभ होता है। द्वापर युग में भगवान विष्णु के आठवें अवतार प्रभु श्रीकृष्ण ने जन्म लिया था। इस दिन भगवान श्रीकृष्ण ने वृंदावन गोकुल की गलियों को छोड़कर मथुरा की ओर प्रस्थान किया था। इसी वजह से वृंदावन परिक्रमा की जाती है।

जानें, Amla Navami 2021 का शुभ मुहूर्त

  • 12 नवंबर 2021 दिन शुक्रवार को सुबह 06:50 मिनट से दोपहर 12:10 मिनट तक पूजन का शुभ मुहूर्त है।
  • 12 नवंबर 2021, दिन शुक्रवार को सुबह 05:51 मिनट से प्रारंभ होगी, जो कि 13 नवंबर, शनिवार को सुबह 05:30 मिनट तक रहेगी।

यह भी पढ़ें – जानवर भी नहीं महफूज़, अब कुत्ते और बिल्लियों में मिला Corona का Alpha Variant

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है