Jammu-Kashmir में Amit Shah ने लोगों को दी आरक्षण की सौगात

0
226

Jammu-Kashmir में किस तरह के हालात हैं ये बात किसी से छुपी नहीं है ऐसे में अब उम्मीद जगी है कि Jammu-Kashmir में विकास हो सकेगा। होम मिनिस्टर Amit Shah ने जम्मू-कश्मीर के पहाड़ी समुदाय के लोगों के लिए एसटी आरक्षण दिए जाने का ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि PM Narendra Modi ने जस्टिस शर्मा कमिशन की सिफारिशों पर काम किए जाने का आदेश दिया है और प्रक्रिया पूरी होते ही पहाड़ी समुदाय के लोगों को आरक्षण मिलने लगेगा। उन्होंने कहा कि गुर्जर, बकरवाल और पहाड़ी समुदाय के लोगों को यह आरक्षण मिलना है।

Amit Shah का आरक्षण से जुड़ा ऐलान अहम माना जा रहा है और आने वाले चुनावों में भाजपा को इसका लाभ मिल सकता है। Amit Shah ने कहा कि आर्टिकल 370 हटने के बाद यह संभव हुआ है। पहले जम्मू-कश्मीर में तीन परिवारों की ही सत्ता थी। वे कहते थे कि आर्टिकल 370 हटा तो खून की नदियां बह जाएंगी, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ है। आज यहां मोदी-मोदी के नारे लग रहे हैं। ये नारे ऐसी तमाम आशंकाओं को जवाब हैं। आर्टिकल 370 हटने के बाद से बीते तीन सालों में आतंकवाद की 721 घटनाएं हुई हैं। इससे पहले के तीन सालों में आतंकवादी हमलों की संख्या 4 हजार से ज्यादा थी। PM Narendra Modi ने आतंकवादियों के खिलाफ मुहिम चलाई थी, यह उसका परिणाम है।

Amit Shah ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आप पहले आए दिन पथराव की खबरें पढ़ते थें, लेकिन मोदी जी ने अब युवाओं के हाथों से पत्थर लेकर लैपटॉप थमाने का काम किया है। उन्हें नौकरी दी है। यह बदलाव जम्मू-कश्मीर के लिए अहम है। राजौरी में आपने क्या कभी मेडिकल कॉलेज की कल्पना भी की थी? लेकिन मोदी जी ने इसकी व्यवस्था की। इससे युवा डॉक्टर बन सकेंगे और पहाड़ी समुदाय के लोगों को मुफ्त में इलाज की सुविधा भी हो सकेगी। अब यहां के लोगों को इलाज के लिए जम्मू नहीं जाना होगा। अमित शाह ने कहा कि राज्य के 27 लाख परिवारों को 5 लाख रुपये का हेल्थ बीमा सरकार की ओर से दिया गया है।

परिसीमन आयोग की रिपोर्ट को लेकर अमित शाह ने कहा कि पहले तीन परिवारों के लिए परिसीमन सत्ता अपने पास रखने का उपाय था। अब जो परिसीमन हुआ है, उसमें सीटों का सही बंटवारा हुआ है। पहाड़ी इलाकों के लिए सीटों में इजाफा किया गया है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने जम्मू में आईआईटी और आईआईएम संस्थानों की स्थापना की है। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर में पर्यटन में भी तेजी से इजाफा हुआ है। इस साल अब तक 1.62 करोड़ लोग इस राज्य में घूमने आ चुके है। अमित शाह ने कहा कि तीन सालों में 56 हजार करोड़ का निवेश जम्मू और कश्मीर में हुआ है। इससे पहले 70 सालों में महज 15 हजार करोड़ा का ही इन्वेस्टमेंट हुआ था।

यह भी पढ़ें – न चाहते हुए भी T20 World Cup से बाहर हुए Jasprit Bumrah

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है