चाचा संग पिता का अस्थि कलश लेकर Akhilesh Yadav हरिद्वार रवाना

0
191

पिता की चिता को आग लगाने के बाद अब बारी आती है अस्थि विसर्जन की। हम बात कर रहे हैं समाजवादी पार्टी के संस्‍थापक और पूर्व मुख्‍यमंत्री Mulayam Singh Yadav की। Mulayam Singh Yadav की अस्थियां लेकर उनके बेटे और पूर्व मुख्‍यमंत्री Akhilesh Yadav हरिद्वार के लिए निकले तो उनके प्राइवेट जेट में पत्‍नी Dimple Yadav और चाचा शिवपाल सिंह यादव भी साथ रहे।

Akhilesh Yadav के अस्थि कलश लेकर परिवार सहित घर से निकलने, सैफई हवाई पट्टी पहुंचने और फिर प्‍लेन में चाचा और पत्‍नी के साथ सवार होने के वीडियो और तस्‍वीरें समाजवादी पार्टी ने अपने अधिकारिक ट्विटर हैंडल से शेयर की हैं। घर से हवाई पट्टी और हरिद्वार तक के सफर में चाचा परिवार के बड़े की तरह हर पल Akhilesh Yadav और डिंपल के साथ नज़र आए। हरिद्वार के नमामि गंगे घाट पर नेताजी की अस्थियों का विसर्जन किया गया। इसके पहले यादव परिवार का प्राइवेट जेट जौली ग्रांट एयरपोर्ट देहरादून में उतरा। वहां से सभी हरिद्वार के लिए रवाना हुए। बता दें कि पहले साढ़े 11 बजे अस्थि विसर्जन का कार्यक्रम वीआईपी घाट पर होना था लेकिन बाद में नमामि गंगे घाट का चयन किया गया। कार्यक्रम में इसमें कुछ विलम्‍ब भी हुआ है।

सैफई परिवार ने अब तक अंतिम संस्कार से लेकर सभी क्रियाओं को पूरे विधि विधान से संपन्न किया है। शनिवार को Akhilesh Yadav समेत परिवार के अन्य सदस्यों ने अंत्येष्टि स्थल पर पहुंचकर अस्थि अवशेषों को एकत्रित किया था। अस्थि विसर्जन भी विधि विधान से हरिद्वार में किया गया। इसके बाद शाम Akhilesh Yadav सैफई के लिए रवाना हो गए।

नमामि गंगे घाट पर सुबह से ही अस्‍थि विसर्जन की तैयारी की गई। अस्‍थ‍ि विसर्जन की पूरी प्रक्रिया में करीब 45 मिनट लगने की सम्‍भावना थी। घाट पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए। वहां तक सिर्फ परिवार के लोगों को जाने की इजाजत थी। समर्थकों और मीडिया को कुछ दूरी पर ही रोक दिया गया था।

यह भी पढ़ें – जनता पर महंगाई की दोहरी मार, दूध के बाद अब Onion हुआ महंगा

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है