पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। अब किसके हाथों में सत्ता होगी इसके लिए कयास लगाए जा रहे हैं। पंजाब में पिछले पांच चुनाव से शिरोमणि Akali Dal और बीजेपी के बीच गठबंधन चल रहा था और इस गठबंधन को बहुत स्वाभाविक गठबंधन माना जाता था। उसी का नतीजा था कि पांच में तीन बार इस गठबंधन को राज्य में बहुमत हासिल हुआ।

2007 से 2017 तक लगातार दो कार्यकाल इस गठबंधन की सरकार रही लेकिन 2017 के चुनाव में हार का सामना करना पड़ा। इसके बावजूद केंद्र में दोनों दलों के बीच गठबंधन बरकरार रहा। हालांकि, अकाली दल का मोदी कैबिनेट में प्रतिनिधित्व बना रहा लेकिन पिछले साल तीन किसान बिलों को लेकर जब किसानों की नाराजगी बढ़ी तो अकाली दल ने बीजेपी के साथ अपना गठबंधन खत्म कर लिया।

बीजेपी से अलग होने के बाद शिरोमणि Akali Dal को इस बात का अहसास हुआ कि राज्य में अकेले चुनाव लड़ने में उसे नुकसान होगा। पंजाब में सहयोगी के लिए उसके पास कोई बहुत ज्यादा विकल्प नहीं थे। कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के साथ उसका गठबंधन नहीं हो सकता था, ऐसे में बीएसपी ही एक विकल्प के रूप में थी। 1996 में इन दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन हुआ था लेकिन यह ज्यादा चल इसलिए नहीं पाया था कि अकाली दल ने 1997 के चुनाव के मद्देनजर बीजेपी से गठबंधन कर लिया था।

2017 के चुनाव में बीएसपी ने 111 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे, जिसमें से 110 सीटों पर उसके उम्मीदवारों की जमानत जब्त हो गई। उसका वोट प्रतिशत महज डेढ़ रहा। बीएसपी की इस कमजोर स्थिति के लिए यह पाया गया कि अकेले चुनाव लड़ने की वजह से बीएसपी उम्मीदवारों के चुनाव जीतने की कोई संभावना न होने से उसका कोर वोटर भी उससे दूर हो गया। इस स्थिति से उबरने के लिए उसे शिरोमणि Akali Dal का साथ सबसे बेहतरीन अवसर लगा।
Akali Dal का अपना जो वोट पिछले चुनाव में दूर हो गया था, वह कितना वापस आता है, इन सारे समीकरणों पर पंजाब के चुनावी नतीजे निर्भर करते हैं। यह जरूर है कि 1996 के लोकसभा चुनाव में बीएसपी और अकाली दल का गठबंधन बहुत कामयाब हुआ था। राज्य की 13 सीटों से 11 पर इस गठबंधन को जीत मिली थी। 2022 के चुनाव में यह गठबंधन जो भी हासिल करेगा, उसकी कीमत कांग्रेस और आम आदमी पार्टी को ही चुकानी पड़ेगी।

यह भी पढ़ें: Hallet Hospital का कारनामा, ‘मुर्दों’ को लगा दिए Remdesivir injection

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है