Home Agriculture आंदोलन कर रहे किसानो ने ठुकराया गृहमंत्री अमित शाह का प्रस्ताव, आप...

आंदोलन कर रहे किसानो ने ठुकराया गृहमंत्री अमित शाह का प्रस्ताव, आप पार्टी ने केंद्र सरकार पर साधा निशाना

0

नई दिल्ली: रविवार को किसानों ने अमित शाह के प्रस्ताव को ठुकरा दिया। जिसके बाद आम आदमीं पार्टी के नेता संजय सिंह सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश का किसान लाखों की संख्या में दिल्ली की सीमा पर बैठ कर आंदोलन कर रहा है, और इस बात का इंतजार कर रहा है कि केंद्र की सरकार उनसे बातचीत करेंगी, उनके समस्याओं का समाधान करेंगी। एक काला कानून जो केंद्र सरकार द्वार जबरन पास किया गया है, उसको वापस लेगी। संजय सिंह ने आगे कहा कि उनका गुनाह यह है कि वो अपने फसल का दाम मांग रहें हैं। किसानों का गुनाह यह है कि वो चाहते हैं कि स्वामी नाथन आयोग की रिपोर्ट लागू हो, इस मांग पर बीजेपी की सरकार किसानों के साथ व्यवहार क्या कर रही है। उनके इस मांग पर बीजेपी की सरकार उनके साथ आतंकवादियों जैसा व्यवहार कर रही है।

उनको लाठियों से पीटा जा रहा है, उनके उपर ऑसू गैस के गोले छोड़े जा रहें है। इस ठंड में उनके उपर पानमी की बौछार की जा रही है। बुजुर्ग हों, महिला हों, छोटे बच्चे हों टॉर्गेट करके उनको मारा जा रहा है। इतनी ही नहीं उस किसान को आतंकवादी कहा जा रहा है, जो किसान आंदोलन पर बैठा है। उस किसान का बेटा सुखवीर सिंह देश के लिए सीमा पर शदीह हो जाता है। शहीद सुखवीर सिंह के पिता जो एक किसान हैं, जो इस आंदोलन में शामिल हैं। बीजेपी उनको आतंकवादी कर रही है। शहीद ए आजम भगत सिंह, शदीह उधम सिंह के वंशजो को आतंकवादी कहा जा रहा है। इतना सब होने के बाद शनिवार को गृहमंत्री अमित शाह प्रकट हुए, और शर्त लगाते हुए बोले कि पहले आप बुराड़ी आओ फिर हम आपसे बात करेंगे।

संजय सिंह ने गृहमंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा कि इतनी असंवेदनशीतला, इतना अहंकार, इतनी शर्तें, इतनी तानाशाही, आपको ये नहीं भूलना चाहिए कि जब आप किसानों के घर वोट मांगने जाते हों, तो नाक नगड़ते हो। अब वही किसान आंदोलन कर रहा तो आप शर्त लगा रहें हों। संजय सिंह ने आगे कहा कि आम आदमी पार्टी, आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल और आप सरकार पूरी तरह के साथ किसानों के साथ खड़ी है। उनके आंदोलन में उनके मांगो के साथ खड़ी है। दिल्ली में हम उनका स्वागत करते हैं। किसानों के इस आंदोलन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर कहा कि केंद्र सरकार को, आंदोलनरत किसानों से बिना शर्त बात करनी चाहिए।

Exit mobile version