Afghanistan में हालात बिगड़ते ही जा रहे हैं। America, Afghanistan से अपनी वापसी को पूरा करने के लिए तैयार है। 31 अगस्त आखिरी तारीख है। इससे ठीक पहले सोमवार को रॉकेट्स ने अफ़ग़ान राजधानी काबुल में उड़ान भरी। एक अमेरिकी अधिकारी ने बताया कि काबुल हवाईअड्डे पर 5 रॉकेट दागे गए, जिन्हें अमेरिकी मिसाइल रोधी प्रणाली ने इंटरसेप्ट किया है। फिलहाल इस हमले की जिम्मेदारी किसी ने नहीं ली है।

America ने काबुल हवाई अड्डे से 114,000 से अधिक लोगों का रेसक्यू किया है। हालांकि आधिकारिक तौर पर मंगलवार को समाप्त यह अभियान समाप्त हो जाएगा। हजारों अमेरिकी सैनिक अफगान छोड़ देंगे। बता दें कि कट्टरपंथी इस्लामवादी तालिबान ने Afghanistan की सत्ता पर कब्जे के बाद से अमेरिका के नेतृत्व वाली रेस्क्यू उड़ानों में डरे हुए लोगों का पलायन शुरू हो गया।

Taliban के प्रतिद्वंद्वियों इस्लामिक स्टेट समूह ने पिछले सप्ताह के अंत में हवाई अड्डे पर एक आत्मघाती बम हमले को अंजाम देने के बाद अमेरिकी वापसी के लिए सबसे बड़ा खतरा पैदा किया है। इस हमले में 13 अमेरिकी सैनिकों सहित 100 से अधिक लोगों की जान चली गई। बाइडेन ने चेतावनी दी थी कि अधिक हमले होने की संभावना है। संयुक्त राज्य America ने कहा कि उसने रविवार रात काबुल में विस्फोटकों से भरे वाहन पर हवाई हमला किया।

संयुक्त राज्य America पर पूरे युद्ध के दौरान हवाई हमलों में कई नागरिकों को मारने का आरोप लगाया गया है। यह America के स्थानीय समर्थन खोने का एक बड़ा कारण भी है। यूएस सेंट्रल कमांड के प्रवक्ता कैप्टन बिल अर्बन ने एक बयान में कहा, “हम आज काबुल में एक वाहन पर हमले के बाद नागरिकों के हताहत होने की खबरों से अवगत हैं।” अर्बन ने कहा कि अमेरिकी सेना इस बात की जांच कर रही है। उन्होंने कहा, “निर्दोष जीवन के किसी भी संभावित नुकसान से हमें गहरा दुख होगा।”

यह भी पढ़ें: Afghanistan के बाद क्या अब कश्मीर पर कब्ज़ा जमाएगा Taliban!

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है