बाप-बेटे ने मचाया कत्ल-ए-आम, ले बैठे अपनों की जान

0
584
Chattishgarh triple murder case

रिपोर्ट: मनीष

महासमुन्द: छत्तीसगढ़ के महासमुन्द में जमीन विवाद के चलते आज तुमगांव थाना क्षेत्र के ग्राम जोबा में बाप-बेटे ने मिलकर अपने ही परिवार के तीन व्यक्तियों की निर्मम हत्या कर दी, वहीं 4 व्यक्तियों पर प्राण घातक हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया है। तुमगांव पुलिस ने आरोपी बाप बेटे को गिरफ्तार कर लिया है। तुमगांव पुलिस इस निर्मम हत्या की जांच कर रही है। जमीन विवाद को लेकर यह हत्या की गई है। दोनों आरोपियों से एक आरोपी इससे पहले भी हत्या के आरोप में जेल जा चुका है और तीन महीने पहले ही जेल से जमानत पर छुट कर गांव पहुंचा था।

आज सुबह तुमगांव पुलिस थाना क्षेत्र के ग्राम जोबा में सुबह साढ़े 4 बजे के लगभग आरोपी परसराम गायकवाड़ पिता स्व. लुडगू 62 साल अपने बेटे ब्रजसेन गायकवाड़ के साथ मिलकर अपने चचेरे भाई के परिवार के घर कुल्हाड़ी और फरसा ले कर पहुचे। आरोपियों बाप बेटे ने इस हत्या की प्लानिंग कल रात्रि में ही कर ली थी। सुबह साढ़े 4 बजे वह अपने चचेरे भाई ओषकुमार पिता साधराम गायकवाड़ के घर पहुंचे उस वक्त मृतिका जागृति गायकवाड़ अपने घर में चाय बना रही थी। आरोपियों ने अपने हाथ में रखे मिर्ची पावडर को जागृति के आंख में छींट कर उस पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया, जिससे घटना स्थल पर ही उसकी मौत हो गई। इसके बाद आरोपियों की नजर कुमारी टीना गायकवाड़ 17 साल पर पड़ी जो अपने घर के अंदर ही थी आरोपी बाप बेटे घर के अंदर पहुंच कर 17 साल की मासूम बालिका पर जानलेवा हमला कर उसे भी मौत के घाट उतार दिया। बाजू के कमरे से मनीष गायकवाड़ 10 साल भी सो रहा था जिसमें भी हत्यारे बाप बेटे ने कुल्हाड़ी, फरसा से वार कर हत्या कर दी।

हत्यारे पिता पुत्र की इतने से भी जी नहीं भरा और पूरे परिवार को जान से मारने की नियत से पहुंचे आरोपियों ने घर के अन्य सदस्य की तलाश शुरू कर दी जो इस वक्त आसपास ही कुछ कर रहे थे उन पर आरोपियों की नजर पड़ी तो हत्यारे पिता पुत्र ने ओषकुमार पर हमला बोल दिया, लहूृ-लूहान ओषकुमार ने जान बचाने के लिए गांव वालों को आवाज लगाना शुरू कर दिया, आरोपियों के हमले से घायल ओषकुमार ने गांव की ओर दौड़ लगा दी। आरोपी पिता पुत्र ने ओषकुमार को छोडक़र अनार बाई गायकवाड़ 60 साल की तरफ दोड़ कर उस पर भी जानलेवा हमला कर दिया। गांव वाले गायकवाड़ परिवार को बचाने पहुंच पाते तब आरोपी परसराम गायकवाड़ अपने पुत्र ब्रजसेन गायकवाड़ के साथ मिलकर कुमारी गीतांजली गायकवाड़ 15 साल और ओम कुमार गायकवाड़ पर 12 साल पर हमला कर गंभीर रुप से घायल कर दिया था। गायकवाड़ के जिन्दा बचे परिवार के चारों सदस्यों गांव वालों को बचाव-बचाव कर मद्द के लिए चिख पुकार करने लगे। गांव के लोगों ओषकुमार गायकवाड़ के घर पहुंचे तो घर के आंगन में जागृति, घर के अंदर टीना और घर के बाड़ी में मनीष की लाश खुन से लथपथ पड़ी मिली। गांव के लोगों को देखकर आरोपी पिता पुत्र फरार हो गये। मामले की जानकारी ग्रामीणों ने तत्काल तुमगांव पुलिस को दी। पुलिस ने तत्तकाल ग्राम जोबा पहुंच कर सभी को 112 की मद्द से अस्पताल पहुंचा जहां तीन लोगों को डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया, वहीं 4 गंभीर व्यक्तियों को प्रारंभिक ईलाज कर जिला चिकित्सालय रिफर किया गया है जहां उनका ईलाज चल रहा है। बहरहाल 4 की स्थिति गंभीर है। पुलिस ने हत्यारे पिता पुत्र को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस आरोपी पिता पुत्र के खिलाफ 452, 307, 302, 34 का मामला दर्ज कर मामले में आगे की जांच में लगी है। स्थानीय कंट्रोल रूम में पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मेघा टेम्भूरकर ने प्रेस को मामले की जानकारी दी है।