Bihar की इस University में पढ़ते हैं 28 हजार ट्रांसजेंडर, जानें पूरा मामला

0
184

हमारे देश में न जाने कितने ट्रांसजेंडर हैं लेकिन हैरानी वाली बात ये है की बीआरए Bihar University में स्नातक पार्ट-1 में आवेदन करने वाले 28 हजार छात्र-छात्राएं ट्रांसजेंडर बन गए। स्नातक आवेदन फॉर्म में जेंडर कॉलम में मेल या फीमेल की जगह अदर्स (अन्य) भर दिया गया। इसका खुलासा तब हुआ, जब इन छात्रों के आवेदन फॉर्म कॉलेजों में नामांकन के लिए भेजे गये। वहां जिन छात्र-छात्राओं के आगे अदर्स लिखा था, वह लड़का या लड़की निकल रहे थे।

इतनी बड़ी संख्या में विद्यार्थियों के सेंटर बदलने से कॉलेज और विवि भी सकते में हैं। Bihar University के यूएमआईएस को-आर्डिनेटर प्रो. टीके डे का कहना है कि आवेदन फॉर्म भरते समय यह गलती हुई है। विद्यार्थी आकर शिकायत कर रहे हैं कि Cyber Cafe वालों ने हमारे फॉर्म में गलती कर दी और जेंडर के आगे अदर्स भर दिया। Bihar University में पहली मेरिट लिस्ट के लिए 60 हजार आवेदन थे, इनमें 36 हजार 10 छात्राएं और 25 हजार 873 छात्र शामिल थे।

टीके डे ने बताया कि जिन छात्र-छात्राओं के आवेदन में जेंडर की गलती हुई है, उसे ठीक करने के लिए सुधार का मौका दिया जाएगा। इसके लिए पोर्टल खोलकर एडिट का अवसर दिया जायेगा। दो दिन बाद एडिट के लिए पोर्टल खोल दिया जाएगा। नामांकन के समय छात्रों के जेंडर बदलने का मामला सामने आने के बाद नामांकन लेने वाले कॉलेज परेशान हो रहे हैं। कॉलेज के पास पहुंचे आवेदन में सरोज कुमार के आगे अदर्स लिखा है, जबकि वह लड़का है। कभी कभी छोटी छोटी गलतियां भी बहुत बड़ी बन जाती है, कुछ ऐसा ही इन दिनों Bihar में भी देखने को मिला।

यह भी पढ़ें – ख़तरे से खाली नहीं है AIIMS हॉस्पिटल का खाना, चिकन करी और पनीर टेस्टिंग में फेल

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है