CAA पर विरोध और समर्थन के सिलसिले के बीच माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला के एक बयान को लेकर लगातार विरोध हो रहे है।

माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) के सीईओ CEO सत्या नाडेला (Satya Nadella) का बयान विवादों में आ गया। सीईओ CEO सत्या नाडेला ने कहा कि वो सिटीजनशिप बिल से दुखी हैं। दरअसल नागरिकता संशोधन कानून (CAA) पर विरोध और समर्थन के सिलसिले के बीच माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला के एक बयान को लेकर लगातार विरोध हो रहे है।

Image result for माइक्रोसॉफ्ट के CEO सत्या नाडेला CAA को लेकर विवादों में घिरे

दरअसल अमेरिकी शहर मैनहटन में संपादकों के साथ एक मीटिंग में नाडेला से भारत के नागरिकता संशोधन कानून सीएए पर सवाल पूछा गया कि भारत के नागरिकता कानून को लेकर आपकी क्या राय है। दरअसल विवादित बयान चर्चा में इसलिए आया क्योंकि  सत्या नडेला का अधूरा बयान वायरल हुआ जिसमें उन्होने बिल को दुखद बताया है। इसके बाद अब माइक्रोसॉफ्ट इंडिया (Microsoft India) ने इस पर सफाई देते हुए नडेला का पूरा बयान को ट्वीट किया है।

Image result for microsoft india

नडेला ने कहा, ‘मुझे लगता है कि जो भी हो रहा है वो बहुत दुखद है यह बुरा है मैं तो भारत आने वाले बांग्लादेशी शरणार्थी को भारत में अगला यूनिकॉर्न बनाने और इन्फोसिस का अगला CEO बनते देखना पसंद करूंगा। नडेला के इस बयान का प्रसिद्ध इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने समर्थन करते हुए कहा है कि  मुझे खुशी हुई कि सत्य नडेला ने वही कहा जिसके लिए वह जाने जाते हैं। अब हम अपने IT क्षेत्र के किसी दिग्गज से उम्मीद करते हैं कि वह अब भी बोलने की हिम्मत जुटाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here