यह मसला अब संसद तक जा पहुंचा है और आखिरकार सरकार को इस बात का जवाब देने सामने आना पड़ा है।

इन दिनों खबरों से बाजार गरम है कि नए साल पर एक बार फिर लोगों को नोटबंदी जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही एटीएम की लंबी लंबी लाइनों में एक बार फिर खड़ा होना पड़ सकता है। ये खबर सुनते ही सभी के माथे पर शिकन आ जाती है। दरअसल कुछ समय से खबर सामने आ रही है कि 2000 के नोट नए साल पर बंद होने जा रहे है।

नागरिकता संशोधन बिल पर सियासी घमासान तेज, अब राहुल गांधी और प्रियंका ने कही…

Image result for 2000 NOTE BAN

उसकी जगह फिर से 1000 रुपये के नए नोट जारी किए जाएंगे। हर कोई जानना चाहता है कि इस बात में कितनी सच्चाई है, क्या सच में ऐसा होने वाला है। बता दें कि 8 नवंबर 2016 को पीएम मोदी ने काले धन को प्रवाह पर रोक लगाने के लिए सबको एक बड़ा झटका दिया था। और रातों रात नोटबंदी की घोषणा कर दी थी, जिसके तहत 500 रुपये और 1000 रुपये के नोट बंद कर दिए गए थे। और साथ ही 2000 रुपये के नए नोट जारी किए गए थे। अब वो भी बंद होने की खबरें आ रही है।

रेप पर रक्षामंत्री का अद्दभूत है ये बयान…

Image result for वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर

बता दें कि लगातार बढ़ती इन खबरों के कारण यह मसला अब संसद तक जा पहुंचा है और आखिरकार सरकार को इस बात का जवाब देने सामने आना पड़ा है। वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने राज्यसभा में ये बात साफ किया है कि सरकार का 2000 रुपये के नोट को बैन करने का किसी तरह का कोई इरादा नहीं है। अनुराग ठाकुर ने सोशल मीडिया पर चल रही इन खबरों को महज एक अफवाह करार दिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि जिस तरीके से बाजार में इस समय 2000 रुपये के नोट चल रहे हैं आगे भी ऐसे ही चलते रहेंगे। और कहा कि सरकार द्वारा 2000 रुपये के नोटों को बैन करने की अभी कोई जरूरत महसूस नहीं की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here