कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर भी सबसे ज्यादा नाम अमित शाह का ही सामने आया था।

अमित शाह को भारतीय जनता पार्टी का चाणक्य कहा जाता है क्योंकि उनकी नीतियों पर ही भारतीय जनता पार्टी आगे बढ़ रही है। पूर्ण बहुमत से सरकार में आने के बाद जितने भी ऐतिहासिक फैसले लिए गए है। उनमें अमित शाह की भूमिका सबसे अहम है। कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर भी सबसे ज्यादा नाम अमित शाह का ही सामने आया था। कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के लिए जो ब्लू प्रिंट तैयार किया गया था। उसमें सबसे ज्यादा अहम भूमिका अमित शाह की ही थी। गोडसे पर दिए गए प्रज्ञा ठाकुर के विवादित बयान पर आखिरकार अमित शाह ने चुप्पी तोड़ दी है।

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर भी सबसे ज्यादा नाम अमित शाह का ही सामने आया था।शायद ही कोई होगा जो राजनीतिक गलियारों में प्रज्ञा ठाकुर के नाम से वाकिफ ना हो। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से प्रज्ञा ठाकुर सांसद चुनी गई। नाथूराम गोडसे को लेकर दिए गए बयान पर प्रज्ञा ठाकुर की आलोचना की जा रही है। उन्होंने नाथूराम गोडसे को सही ठहराते हुए देशभक्त का दर्जा दे दिया है। प्रज्ञा ठाकुर के इस तरह के बयानों को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी ने उनके संसदीय बैठक में जाने पर पाबंदी लगाई हुई है। लेकिन विपक्षी पार्टियों के नेता प्रज्ञा ठाकुर के इस्तीफे की मांग कर रहे हैं।

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर भी सबसे ज्यादा नाम अमित शाह का ही सामने आया था।एक कार्यक्रम के दौरान अमित शाह से जब पूछा गया कि प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर आप क्या कहेंगे तो उन्होंने इसका जवाब देते हुए कहा कि सरकार और भारतीय जनता पार्टी प्रज्ञा ठाकुर द्वारा लोकसभा में नाथूराम गोडसे को लेकर दिए गए बयान की आलोचना करते हैं। अमित शाह ने अपने बयान को आगे बढ़ाते हुए कहा कि ना तो मैं और ना ही सरकार उनके किसी भी बयान का समर्थन करते हैं। इससे पहले केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह भी प्रज्ञा ठाकुर के इस बयान की आलोचना कर चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here